DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बिजनौर  ›  सूबे में गन्ना पेराई में बिजनौर अव्वल

बिजनौरसूबे में गन्ना पेराई में बिजनौर अव्वल

हिन्दुस्तान टीम,बिजनौरPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 10:10 PM
सूबे में गन्ना पेराई में बिजनौर अव्वल

सूबे में सबसे अधिक गन्ना पेराई कर बिजनौर ने पहला स्थान हासिल कर लिया है। बिजनौर की 9 चीनी मिलों ने 11 करोड़ 20 लाख कुंतल गन्ना पेराई की है तो अभी तीन चीनी मिल गन्ना पेराई कर रही है। सूबे में लखीमपुर 10 करोड़ 15 लाख कुंतल गन्ना पेराई कर दूसरे स्थान पर तो मुजफ्फरनगर जिला 9 करोड़ 99 लाख कुंतल गन्ना पेराई कर तीसरे स्थान पर है। मेरठ, सीतापुर, सहारनपुर, बरेली, हरदोई, शामली और पीलीभीत आदि जिलों ने भी टॉप टेन में जगह बनाई है।

बिजनौर के किसानों की मुख्य फसल गेहूं, धान और गन्ना है। जिले में गन्ने का रकबा करीब 2 लाख 47 हजार हैक्टेयर था। जिले में 9 चीनी मिल है। पिछले साल चीनी मिलों ने 11 करोड़ 44 लाख कुंतल गन्ना पेराई की थी। इस बार भी चीनी मिल पिछले पेराई के आंकडे़ को छूने का प्रयास कर रही है। बिजनौर ने सूबे में सबसे अधिक गन्ना पेराई कर पहला स्थान हासिल कर लिया है। बिजनौर में अभी तीन चीनी मिल चल रही है। अभी और भी गन्ना पेराई होगी तथा चीनी का उत्पादन भी बढ़ेगा। जिले में गन्ने का उत्पादन बढ़ने का मुख्य कारण 0238 गन्ना प्रजाति है। इसमें अच्छा उत्पादन निकल रहा है। जिले के किसान भी गन्ने की खेती को दिल लगाकर कर रहे हैं। धामपुर चीनी मिल ने अब तक 2 करोड़ 29 लाख 54 हजार कुंतल गन्ना पेराई कर ली है और अभी चीनी मिल गन्ना पेराई कर रही है।

गन्ना पेराई में प्रदेश में टॉप टेन जिले

जिला गन्ना पेराई

बिजनौर 11 करोड़ 20 लाख कुंतल

लखीमपुर 10 करोड़ 15 लाख कुंतल

मुजफ्फरनगर 9 करोड़ 99 लाख कुंतल

मेरठ 8 करोड़ 9 लाख कुंतल

सीतापुर 5 करोड़ 35 लाख कुंतल

सहारनपुर 5 करोड़ 39 हजार कुंतल

बरेली 3 करोड़ 90 लाख 59 हजार कुंतल

हरदोई 3 करोड़ 90 लाख 7 हजार कुंतल

पीलीभीत 3 करोड़ 58 लाख 73 हजार कुंतल

शामली 3 करोड़ 55 लाख 14 हजार कुंतल

-----

बिजनौर की चीनी मिलों ने की अब तक गन्ना पेराई

चीनी मिल गन्ना पेराई

धामपुर 2 करोड़ 29 लाख 54 हजार कुंतल

स्योहारा चीनी मिल 2 करोड़ 9 लाख 72 हजार कुंतल

बिलाई 1 करोड़ 36 लाख 24 हजार कुंतल

बहादरपुर 1 करोड़ 23 लाख 65 हजार कुंतल

बरकातपुर 1 करोड़ 37 लाख 4 हजार कुंतल

बुंदकी 1 करोड़ 33 लाख 94 हजार कुंतल

चांदपुर 62 लाख 80 हजार कुंतल

बिजनौर 39 लाख 12 हजार कुंतल

नजीबाबाद 48 लाख 36 हजार कुंतल

124 लाख 89 हजार कुंतल चीनी उत्पादन

जिले की सभी चीनी मिलों ने अब तक 1 करोड़ 24 लाख 89 हजार कुंतल चीनी का उत्पादन कर लिया है। पिछले साल जिले की चीनी मिलों ने 1 करोड़ 32 लाख 86 हजार कुंतल चीनी का उत्पादन किया था।

11 करोड़ 44 लाख कुंतल पिछले साल की थी पेराई

जिले की सभी 9 चीनी मिलों ने पिछले साल 11 करोड़ 44 लाख कुंतल गन्ना पेराई की थी। वर्तमान गन्ना पेराई सत्र में चीनी मिल 11 करोड़ 21 लाख कुंतल गन्ना पेराई कर चुकी है। अभी इस गन्ना पेराई की संख्या में और इजाफा होगा। डीसीओ यशपाल सिंह ने बताया कि भले ही कुछ चीनी मिल चल रही है लेकिन गन्ना पेराई में बिजनौर अव्वल है। दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे जिलों में भी एक दो चीनी मिल ही चल रही है। अब पेराई में बिजनौर कोई जिला पीछे नहीं छोड़ पाएगा।

3590 करोड़ का गन्ना खरीद चुकी हैं मिलें

जिले की चीनी मिलों ने पिछले साल 3670 करोड़ का गन्ना खरीदा था। इस बार चीनी मिल किसानों से 3590 करोड़ का गन्ना खरीद चुकी है। अब तक किसानों को चीनी मिलों ने 2400 करोड़ का भुगतान कर दिया है।

कोल्हू और क्रेशर ने 4 करोड़ 50 लाख कुंतल गन्ना पेराई की

जिले में इस बार करीब 111 क्रेशर और 2 हजार के करीब कोल्हू गन्ना पेराई कर रहे थे। डीसीओ यशपाल सिंह के मुताबिक जिले में चल रहे कोल्हू और क्रेशर ने करीब 4 करोड़ 50 लाख कुंतल गन्ना पेराई की है।

जिले में चल रही अभी भी तीन मिल

जिले में अभी तक तीन चीनी मिल गन्ना पेराई कर रही है। जिले में स्योहारा चीनी मिल, धामपुर चीनी मिल और बरकातपुर चीनी मिल गन्ना पेराई कर रही है। 28 मई तक चीनी मिलों द्वारा गन्ना पेराई करने की उम्मीद है।

- प्रदेश में गन्ना पेराई में बिजनौर पहले स्थान पर है। 22 मई तक बिजनौर की चीनी मिलों ने सर्वाधिक 11 करोड़ 20 लाख कुंतल गन्ना पेराई की है। प्रदेश में गन्ना पेराई में दूसरे स्थान पर लखीमपुर और तीसरे स्थान पर मुजफ्फरनगर है। जिले की चीनी मिलों ने अब तक 1 करोड़ 24 लाख कुंतल चीनी का उत्पादन कर लिया है।

- यशपाल सिंह, जिला गन्ना अधिकारी, बिजनौर

संबंधित खबरें