DA Image
24 सितम्बर, 2020|4:33|IST

अगली स्टोरी

बिजनौर में गई करीब 12 हजार मजदूरों को ठहराने की व्यवस्था

default image

काम की तलाश में मजदूर दूसरे राज्यों का रुख करते हैं। लॉकडाउन के चलते यह मजदूर अपने अपने जिलों को लौट रहे हैं। हरियाणा से करीब 435 मजदूर बिजनौर लौट गए हैं। जिला प्रशासन ने करीब 12 हजार मजदूरों को बिजनौर आने पर ठहराने की व्यवस्था की ली है।

स्कूल ओर बैंक्वेट हॉल में मजदूरों को ठहराया जाएगा। बतादें कि जिला प्रशासन के पास अभी कितने मजदूर बिजनौर आएंगे इसकी संख्या नहीं है।जिले के लोग काम की तलाश में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, बिहार, उत्तराखंड आदि काफी संख्या में जाते हैं। कोरोना महामारी को लेकर प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन घोषित किया। सब काम काज बंद होने से मजदूरों को मजबूरीवष लौटना पड़ रहा है। अब तक जिले में हरियाणा से 435 मजदूर लौट आए हैं। इन्हें अस्थाई आश्रय स्थलों में क्वारंटाइन किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि दूसरे राज्यों से बिजनौर काफी संख्या में मजदूर आएंगे। उनके ठहराव के लिए जिला प्रशासन ने व्यवस्था कर ली है। बतादें कि जिला प्रशासन ने करीब 12 हजार मजदूरों के ठहराने की व्यवस्था कर ली है। 20 हजार लोगों की व्यवस्था करनी है। स्कूलों और बैंक्वेट हॉल को मजदूरों को ठहराने के लिए चुना गया है। कोटडीएम के निर्देश पर जिला मुख्यालय पर करीब 12 हजार मजदूरों को रखने की व्यवस्था कर ली गई है। स्कूलों और बैंक्वेट हाल में मजदूरों को रखा जाएगा।--धर्मेन्द्र सिंह, तहसीलदार बिजनौर कोटबिजनौर में 20 हजार मजदूरों को रखने की व्यवस्था की जाएगी। करीब 10 से 12 हजार लोगों को रखने के लिए व्यवस्था कर ली गई हैं। कितने मजदूर दूसरे राज्यों से बिजनौर आएंगे, यह जानकारी अभी नहीं है।-- रमाकांत पांडेय, डीएम बिजनौर

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Arrangement for lodging of about 12 thousand laborers in Bijnor