ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश बिजनौरबेसहारा बच्चों का सहारा बने आचार्य राम मुनि का निधन

बेसहारा बच्चों का सहारा बने आचार्य राम मुनि का निधन

दयानंद गुरुकुल काव्य सेवा संस्थान मुढाल के संचालक आचार्य राम मुनि का हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। उनके निधन से आश्रम और उनके अनुयाई शोक में डूब...

बेसहारा बच्चों का सहारा बने आचार्य राम मुनि का निधन
हिन्दुस्तान टीम,बिजनौरThu, 22 Feb 2024 12:05 AM
ऐप पर पढ़ें

दयानंद गुरुकुल काव्य सेवा संस्थान मुढाल के संचालक आचार्य राम मुनि का हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। उनके निधन से आश्रम और उनके अनुयाई शोक में डूब गए।

गुरुकुल काव्य सेवा संस्थान में दर्जनों अनाथ, बेसहारा,असाहय बच्चों को शिक्षा ,संस्कार देने के साथ-साथ उनके रहने सहने की पूर्ण व्यवस्था आश्रम में है। आश्रम के संचालक राम मुनि पूरी व्यवस्था संभाले हुए थे। एक तरह से इन अनाथ बच्चों का एकमात्र सहारा आचार्य राम मुनि थे। जिनका बुधवार को प्रातः 10 बजे अचानक हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। उनके निधन से आश्रम व क्षेत्र में शोक छा गया। उनके निधन की खबर मिलते ही उनके अनुयाई व आश्रम में आस्था रखने वाले लोग बड़ी संख्या में वहां पहुंचे और उनके अंतिम दर्शन किए। उनके निधन आश्रम के बच्चों का रोते बिलखते बुरा हाल था तथा उनके चेहरो पर राम मुनि के जाने का दर्द साफ दिखाई पड़ा था। बच्चों का कहना था कि अब कौन उन्हें सहारा देगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें