DA Image
23 अक्तूबर, 2020|3:17|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन के कारण भुखमरी के कगार पर व्यापारी: कंछल

लॉकडाउन के कारण भुखमरी के कगार पर व्यापारी: कंछल

सरकार से ऑनलाइन खरीदारी पर पूरी तरह से रोक लगाने की मांगसचित्र उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रदेश अध्यक्ष बनवारी लाल कंछल ने मंगलवार को नगर व जिला व्यापार प्रतिनिधि मंडल व व्यापारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान संगठन, समस्या और सदस्यता अभियान की समीक्षा करते हुए कहा कि लाक डाउन के चलते व्यापारियों का कारोबार पूरी तरह चौपट हो गया है। ऐसे में राहत देने के बजाय सरकार व्यापारियों का उत्पीड़न करने पर अमादा हो गई है। कहा कि जीएसटी कमिश्नर द्वारा एसआईवी छापे का निर्देश दिया गया है इसे वापस नहीं लिया गया तो इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा। कहा कि लॉक डाउन के कारण व्यापारी भुखमरी के कगार पर पहुंच चुकी हैं। व्यापारी समाज के लिए आर्थिक पैकेज की मांग करते हुए कहा कि सरकार राहत देने के बजाय पूरा टैक्स मांग रही है। इसके लिए छापा मारने का निर्देश दिया गया है। जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। व्यापारी समाज दया की भीख नहीं चाहता अगर कम व्याज पर उसे राहत पैकेज मिल जाए तो एक बार फिर अपना कारोबार व्यवस्थित कर लेगा।उन्होंने ऑनलाइन खरीदारी पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि चार करोड़ फुटकर व्यापारी चालीस करोड़ का पेट भरने का काम करते हैं। उनके व्यापार पर कुठाराघात हुआ तो सरकार चलाना मुश्किल होगा। व्यापार मंडल की कुछ मांग को सरकार द्वारा पूरी करने पर इसकी सराहना करते हुए कहा कि व्यापारी को पैजामा पहना दिया गया है लेकिन उपर का कुर्ता बाकी है। सरकार से छ: माह तक का ब्याज, जुर्माना, टैक्स, बिल माफ करने की मांग दोहराते हुए कहा कि की वैश्विक महामारी के दौरान मृतक कर्मचारी को अनुकंपा राशि दी गई लेकिन व्यापारी परिवार को ऐसी सुविधा नहीं। प्रदेश अध्यक्ष ने टोल टैक्स को कष्टदायक बताते हुए इसमे पचास फीसदी कटौती को जनहित में बताया। इस मौके पर रमाकांत गुप्ता, जिला अध्यक्ष डा. घनश्याम दास गुप्ता, श्रीकांत, दिनेश, शिवशंकर गुप्त, रंजित गुप्त, अनुज गुप्त, मुकेश सोनी, जयदयाल मोदनवाल आदि रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Traders on the brink of starvation due to lockdown Kachal