अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीज पर्व पर सुहागिनों ने रखा निर्जला व्रत, मंदिरों में टेका मत्था

पति-पत्नी के अटूट प्रेम व अखंड सौभाग्य का प्रतीक पर्व हरितालिका तीज बुधवार को पूरी आस्था और उत्साह के साथ कालीन नगरी में मनाया गया। महिलाओं ने निर्जला व्रत रखा। पति की दीर्घायु व सलामती के लिए भगवान भोलेनाथ से कामना किया। कुंवारी कन्याओं ने भी तीज व्रत रखकर सुयोग्य वर की प्रार्थना की। शाम को शिवालयों में सुहागिनों व कुंवारी कन्याओं ने कैलाशपति, माता पार्वती व उनके पुत्र विघ्न विनाशक भगवान श्री गणेश की विधि-विधान से पूजा-अर्चना की। महिलाओं ने हाथों में मेहंदी रचाई तथा सोलह शृंगार कर मंदिरों में मत्था टेका। कई जगह पर गीत-संगीत का भी आयोजन किया गया। जिसमें हरितालिका तीज कथा सुनी गई। 
जनपद के ज्ञानपुर स्थित हरिहरनाथ मंदिर, सेमराधनाथ, ओदारनाथ मंदिर, दूधनाथ मंदिर, घोपइला मंदिर, शहर के छितनी तालाब शिव मंदिर, श्रीराम-जानकी मंदिर, भरत चौराहा स्थित महादेव मंदिर, स्टेशन परिसर स्थित शिव मंदिर, सिविललाइन रोड स्थित महादेव मंदिर समेत शहर से लेकर गांवों में स्थित शिवालयों में आस्था का हुजूम उमड़ पड़ा। सुहागिनों ने भगवान आशुतोष, मां पार्वती व गणपति से अपने पति की लम्बी उम्र और तमाम संकटों के निवारण की प्रार्थना की। शिव-पार्वती को शृंगार का सामान, फल, मिष्ठान्न, वस्त्र, फूल-माला आदि चढ़ाकर विधि-विधान से पूजा की गई। औघड़दानी को भोग लगाने के बाद आरती उतारी गई। 
उधर, गोपीगंज में हरितालिका तीज पर्व पर शिव मंदिरों में महिलाओं की भारी भीड़ उमड़ी। पूजन-सामग्री चूड़ी, सिंदूर, फल समेत आदि दुकानों पर खरीदारों की काफी भीड़ रही। गोपीगंज के बड़े शिव मंदिर, सोनिया तालाब स्थित सिद्धेश्वरनाथ मंदिर, सदर मोहाल के दुर्गाजी मंदिर, हनुमानगढ़ी मंदिर, कबूतरनाथ, भोपेश्वरनाथ मंदिर समेत ग्रामीण क्षेत्र में तिलेश्वरनाथ, पांडवानाथ, लालानगर के शिव मंदिर, लालानगर, सीखापुर, जगरनाथपुर, बरजी, सागररायपुर, गोपपुर, सारीपुर, धनापुर समेत के शिवालयों पर महिलाओं ने पूरी आस्था के साथ भोलेशंकर, मां पार्वती व भगवान गणपति का पूजन-अर्चन किया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Suhaginas kept on the Teej fast Nirjala vrat