DA Image
24 जनवरी, 2021|8:29|IST

अगली स्टोरी

पुरानी यादों को दिल में सहेज कर नूतन साल का किया इस्तकबाल

पुरानी यादों को दिल में सहेज कर नूतन साल का किया इस्तकबाल

भदोही। निज संवाददाता

कैलेंडर नए वर्ष का खुमार कालीन नगरी के लोगों के सिर चढ़कर बोला। वर्ष के आखिरी दिन गुरुवार को महामारी के खौफ को भूलकर लाोगों ने जश्न मनाया। देर रात तक शहर की सड़कों पर युवाओं ने डीजे की धुन पर डांस कर नए साल का इस्तकबाल किया। देर शाम से शुरू हुआ कार्यक्रमों का आयोजन रात तक चलता रहा। इस दौरान लोगों ने एक दूसरे को सुखद, मंगल व स्वस्थ्य जीवन की शुभकामनाएं भी दी।

समय परिवर्तन के साथ ही लोगों की सोच भी बदलती देखी जा रही है। कैलेंडर नए साल का बुखार शहर से लेकर जिले के हर आदमी के सिर पर गुरुवार को चढ़ा देखा गया। दोपहर बाद से युवा सड़कों पर चूना व पेंट से नए साल के स्वागत का स्लोगन लिखना शुरू कर दिया था। डीजे की धुन पर युवक व युवतियां झुमते देखे गए। बड़े, बुजुर्गों ने भी अपने स्तर से नए साल का स्वागत किया। बच्चे, महिलाएं, दिव्यांग, युवा, किशोर, बुजुर्ग हर किसी के सिर पर नए साल का भूत देखा गया। कहीं पर बाटी, चोखा की पार्टी तो कहीं पर नृत्य व संगीत का आयोजन किया गया।

गुरुवार को कड़ाके की ठंड के बाद भी देर रात तक शहर की सड़कों व गलियों के साथ ही गांवों में जश्न सा माहौल रहा। देर शाम के बाद गांवों में जहां पहले सियापा छा जाता था। वहीं, गुरुवार को देर रात तक गांव गुलजार रहे। पुराने साल की यादों को दिलों में सहेजने के साथ ही नए वर्ष में सुखद जीवन की कामना की गई।

बधाई संदेशों से पटे रहे सोशल प्लेटफार्म

कैलेंडर नव वर्ष का खुमार सोशल मीडिया यूजर्स पर जमकर देखा गया। फेसबुक, वाट्सअप, ट्विटर, इंस्ट्राग्राम समेत अन्य साइटें गुरुवार को बधाई संदेशों से पटी रही। आभासी दुनिया के पास से लेकर सात समुंदर पार बैठे दोस्त को बधाई देने से लोग नहीं चूके। उधर, नए साल की दीवानगी का संचार कंपनियों ने भी जमकर फायदा उठाया। ग्राहकों को ऑफर देकर मोटी अर्निंग की। बड़ी संख्या में लोग देर रात तक दोस्तों को मैसेज भेजते देखे गए।

देव स्थलों पर परिवार संग पहुंचे लोग

भदोही। नए साल में सुखद जीवन की कामना को लेकर कालीन नगरी समेत पूरे जिले से भारी तादात में लोग माता महैर (मध्य प्रदेश), मां विध्यवासिनी (मिर्जापुर), चित्रकूट, वाराणसी, संगम (प्रयागराज) आदि देव स्थानों पर पहुंचे। टे्रन, बस व अन्य निजी साधनों से लोग गुरुवार को ही परिवार व मित्रों संग वहां पहुंच कर नए साल का जश्न देवी व देवताओं की सानिध्य में मनाया। इस दौरान उनसे जीवन में कृपा बरसाने की अपील की गई। महामारी के कारण इस साल लोगों ने पूजा अर्चना अधिक की। इसके कारण मंदिरों में अन्य दिनों की अपेक्षा भीड़ अधिक देखी गई।

बीडीएच 19: ज्ञानपुर नगर में गुरुवार को ग्रीटिंग कार्ड की खरीदारी करते लोग।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Saved the old memories in the heart made a new year of Istbal