DA Image
23 फरवरी, 2020|10:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुद के दम पर सत्ता का रुख बदलने वाले थे लोहिया

खुद के दम पर सत्ता का रुख बदलने वाले थे लोहिया

समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर शनिवार को समाजवाद के पुरोधा एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व्ॉ. डॉ. राममनोहर लोहिया की पुण्यतिथि मनाई गई। कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष मोहम्मद आरिफ सिद्दीकी की अध्यक्षता में उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया। पुण्य तिथि को निर्वाण दिवस के रूप में मनाकर उनके विचारों को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया गया। वक्ताओं ने कहा कि स्व्ॉ.लोहिया देश के समाजवादी आदर्श पुरूष थे।

जिलाध्यक्ष ने बताया कि 23 मार्च1910 को जन्मे डॉ.लोहिया जी भारत केस्वतंत्रता की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका या योगदान कि ए थे। देश की राजनीति में स्वतंत्रता आंदोलन और उसके बाद भी ऐसे नेता बनकर उभरे जो अपने दम पर शासन का रूख बदलने में सक्षम थे। वे मानवता की स्थापना के पक्षधर में समाजवादी थे। उनका विचार था कि एक मानव का दूसरे मानव के बीच कोई भी दुराव या मतभेद नहीं होने चाहिए। सबको एक रहकर समानता में विश्वास कर ना चाहिए। अजीत सिंह राजपूत ने कहा कि वर्तमान समय में लोहिया के विचारों की जरूरत है। इससे ही देश में एकता की उम्मीद की जा सकती है। इस मौके पर महासचिव ओम प्रकाश यादव, जितेंद्र यादव, श्यामधर, घनश्याम गुप्ता, वजीर आलम, कमलाशंकर, अनुराग, संतोष यादव, विनोद, मनोज यादव, धर्मेद्र यादव, एबरार अंसारी, सरिता गौड़, नान्हक यादव आदि शामिल रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lohia was about to change her stand on her own