ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशहृदय रोगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगर्मी के मौसम में खानपान का विशेष ध्यान देना जरुरी है।

हृदय रोगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगर्मी के मौसम में खानपान का विशेष ध्यान देना जरुरी है।

हृदय रोगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगियों के लिए घातक बन रहा...

हृदय रोगियों के लिए घातक बन रहा उमस भरी गर्मीगर्मी के मौसम में खानपान का विशेष ध्यान देना जरुरी है।
हिन्दुस्तान टीम,भदोहीTue, 14 May 2024 01:00 AM
ऐप पर पढ़ें

ज्ञानपुर, संवाददाता। तपति धूप व उमस भरी गर्मी में दिल के मरीजों को विशेष सावधानी बरतने की जरुत है। मौसम की मार से लोग बीमार पड़ने लगे हैं। महाराजा चेतसिंह जिला अस्पताल हो या निजी नर्सिंगहोम हर तरफ मरीजों में इजाफा होता जा रहा है। बत्ती गुल होते ही हृदय रोगी उमस भरी गर्मी से व्याकूल हो जा रहे हैं।
दोपहर में चेहरा ढंककर लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। धूप में पड़ते ही लोगों की बेचैनी बढ़ जा रही है। उमस भरी गर्मी में दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। महाराजा चेतसिंह जिला अस्पताल के चिकित्सक विवेक सिंह की माने तो मेघ की दस्तक से उमस का प्रकोप बढ़ गया है। प्रचंड गर्मी में स्वास्थ संबंधित कई समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। उल्टी, दस्त, बुखार व पेट दर्द संग हृदय रोगियों में वृद्धि हो रही है। इतना ही नहीं दिल के रोगियों के लिए यह समय काफी कठिन हो जाता है। ऐसे में दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। हृदय रोगियों के लिए गर्मी काफी घातक साबित होता है। गर्मी के मौसम में ज्यादा पसीना बहता है जो डिहाइडे्रशन का कारण बनता है। इस वजह से खून का वाल्यूम कम हो जाता है और दिल पर इसका दबाव पड़ता है। शरीर में पानी की कमी होते ही दिल की बीमारी बढ़ने का संकेत दिखने लगता है। इतना ही नहीं गर्मी के मौसम में शरीर का तापमान नियंत्रित करने के लिए हार्ट को ज्यादा मेंहनत करना पड़ता है। इसी वजह से धड़कन बढ़ जाती है और हृदय पर अतिरिक्त वजन या दबाव का कारण बनता है। इसके अलावां इन दिनों स्किन के ब्लड वेसल्स डायल्यूट हो जाते हैं जिससे शरीर के दूसरे अंगों को ब्लड सप्ताई में कमी आती है। ज्यादा पसीना बहने से शरीर में सोडियम व पोटेशियम की मात्रा में कमी आता है। गर्मी में शरीर को ज्यादा थकावट महशूस होता है। ज्ञानपुर। सीएमओ डा. संतोष कुमार चक के मुताबिक गर्मी के मौसम में पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करें। अधिक तापमान में कदापि न बाहर निकलें। हल्का व सूती कपड़ा पहनें। बाहर का काम या व्यायाम करने से बचें। किसी भी नए व्यायाम की शुरुआत करने से पहले अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर से सलाह लें। शरीर को डिहाइट्रेड करने वाली चीजें जैसे शराब का सेवन, कैफीन व चाय का सेवन कम करें। गर्मी के मौसम में खानपान का विशेष ध्यान देना जरुरी है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।