Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशभगवत कथा श्रवण से दूर हो जाते हैं मानव के कष्ट व पाप

भगवत कथा श्रवण से दूर हो जाते हैं मानव के कष्ट व पाप

हिन्दुस्तान टीम,भदोहीNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 03:11 AM
भगवत कथा श्रवण से दूर हो जाते हैं मानव के कष्ट व पाप

गोपीगंज। हिन्दुस्तान संवाद

विकास खंड औराई के लालानगर में विश्व कल्याण के लिए श्री लक्ष्मी नारायण पंच कुंडीय महायज्ञ व श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे दिन अरण्य मंथन से अग्नि प्रज्वलित कर आहुति दी गई। आठ दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान का शुभारंभ शनिवार 27 नवंबर को कलश यात्रा के साथ हुआ था जबकि समापर चार दिसंबर को हवन व भंडारे संग होगा।

भागवताचार्य कृष्ण प्रिया पूजा दीदी वृंदावन, यज्ञ आचार्य लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी काशी व यज्ञ प्रभारी आचार्य अनिल के सानिध्य में आयोजित अनुष्ठान में प्रात: कालीन पूजन के उपरांत अग्नि देव का आह्वान करते हुए अरण्य मंथन किया गया। इस दौरान प्रज्वलित हुए अग्नि को हवन कुंड मे प्रवाहित कर आशुतोष शुक्ल, विवेक मिश्र, दयाशंकर शुक्ल, जागेश दुबे द्वारा की गई मन्त्रोच्चार के बीच आहुति देने का क्रम प्रारंभ हो गया। आहूति देने का क्रम यजमान रामजीत पाल, गुलाब धर पाठक, शिवकांत पाठक, रानू पांडेय आदि ने किया। भागवताचार्य कृष्ण प्रिया पूजा दीदी वृंदावन ने श्रीमद् भागवत महापुराण कथा का रसपान कराया। उनके मुखार विन्दु से कथा का सजीव चित्रण सुन श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। कहा कि जहां पर भागवत होती है, वहां के लोगों का पाप व कष्ट दूर हो जाता है। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग रहे।

epaper

संबंधित खबरें