DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

19 को कालीन नगरी में मनाई जाएगी हनुमत जयंती

प्रभु श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमान जी की जयंती कालीन नगरी में 19 अप्रैल को मनाई जाएगी। इसे लेकर तैयारियां अभी से तेज हो गई हैं। मंदिरों को सजाने संवारने के साथ ही भक्त धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करेंगे।

मान्यताओं के अनुसार चैत्र मास की पूर्णिमा को ही माता अंजनी के गर्भ से हनुमान जी ने जन्म लिया था। इसलिए यह जन्मतिथि विशेष है। कई वर्षों बाद चित्रा-नक्षत्रयुता परम पुण्यदायिनी स्नान दानकी चैत्री पूर्णिमा शुक्रवार के दिन पड़ी। इस अति विशिष्ठ योग में हनुमान जी की उपासना, पूजा पाठ करने का विशेष लाभ भक्तों को प्राप्त होगा। उधर, शहर के हनुमान बाग स्थिति हनुमान मंदिर, श्रीराम जानकी मंदिर, हरि मंदिर, महादेव मंदिर, छितनी तालाब स्थित मंदिर, सीतामढ़ी स्थित मंदिर, बाबा हरिहरनाथ मंदिर के साथ ही गोपीगंज नगर के बरगदा हनुमान मंदिर समेत सभी मंदिरों को सजाने संवारने का काम चल रहा है। उक्त तिथि को सुंदरकांड व हनुमान चालीसा का पाठ कई स्थानों पर होगा। इसके अलावा दर्जनों स्थानों पर भंडारे का भी आयोजन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hanumat Jayanti celebrated in 19th century city