DA Image
24 अक्तूबर, 2020|5:52|IST

अगली स्टोरी

हैंडनॉटेड कालीनों को बायरों ने सर्वाधिक सराहा

हैंडनॉटेड कालीनों को बायरों ने सर्वाधिक सराहा

ओशिनियो देशों को ध्यान में रखकर चल रहे दूसरे वर्चुअल कालीन मेले के दूसरे दिन बुधवार को हैंडनॉटेड कालीनों को जबरदस्त सराहना मिली। मेला छोटे कारोबारियों के लिए वरदान साबित हो रहा है। पहले दिन मंगलवार को देर रात तक कुल 65 बायरों ने निर्यातकों के कालीनों को सराहा था।

कालीन निर्यात संवर्द्धन परिषद (सीईपीसी) के चेयरमैन सिद्धनाथ सिंह ने बताया कि ऑनलाइन मेला छोटे कालीन निर्यातकों के लिए संजीवन का काम कर रहा है। संकट के इस काल में मिलने वाला आर्डर उनके कारोबार को बल देता। भारतीय हस्त निर्मित कालीनों को बायरों ने जबरदस्त सराहा है। आधुनिक डिजाइन, सस्ते कालीनों व रंगों की गुणवत्ता वाले गलीचों की सर्वाधिक मांग देखी जा रही है। कहा कि एक अक्तूबर गुरुवार तक मेले का आयोजन होगा। उसके बाद ही कारोबार के बारे में पता चल पाएगा। मेले में निर्यातकों के साथ ही 86 लोगों ने प्रतिभाग किया।

कहा कि उक्त मेले के जरिए पीएम नरेंद्र मोदी के आत्म निर्भर भारत के सपनों को साकार किया जाएगा। साथ ही लोकल को वोकल व वोकल को ग्लोबल की ओर परिषद ले जाने का काम कर रहा है। मेले में उमर हमीद, उमेश कुमार गुप्ता मुन्ना आदि रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Byron was most appreciated for handnoted carpets