DA Image
28 जनवरी, 2020|6:37|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोरी का ऐतिहासिक कजली मेला आज, तैयारियां पूरी

default image

क्षेत्र के भोरी गांव का ऐतिहासिक कजली मेला 18 अगस्त दिन रविवार को मनाया जाएगा। शनिवार को पूरा मेला परिसर दुकानों से पट गया। पूर्वांचल के जनपदों से भारी तादात में महिलाएं मेले में शिरकत करने के लिए गांव पहुंच भी चुकी हैं। मेले के आकर्षक महिलाओं के बीच झगड़े को देखने की उत्सुकता लोगों में आज भी कायम है।

पड़ोसी जनपद मिर्जापुर से कजली पर्व मनाने की सीख भले ही जनपद के लोगों को सदियों पूर्व मिली थी। लेकिन आज के समय में पूरे जनपद में भोरी के कजली मेले का अपना एक अलग मुकाम है। मेले में जनपद के साथ ही आसपास के जिले मिर्जापुर, जौनपुर, वाराणसी, इलाहाबाद समेत कई जनपदों से महिलाएं आती हैं। बुधवार को मेला परिसर में दुकानदारों ने मेले के दिन दुकान लगाने के लिए स्थान का चयन कर लिया था। उधर, मेला समिति के पदाधिकारियों ने पूरे दिन पसीना बहाकर मेले की तैयारियों को अंतिम रूप दिया।

सुरक्षा को लेकर प्रभारी निरीक्षक सुरियावां व पाली चौकी इंचार्ज हमराहियों संग डटे गए हैं। पुलिस ने बताया कि मेले में उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए पीएसी के जवानों संग भारी तादात में महिला पुलिस के जवानों की तैनाती की जाएगी। गांव के साथ ही आसपास के गांवों में शनिवार को ही रिश्तेदार पहुंच गए थे। पूरा परिक्षेत्र मेले को लेकर काफी उत्साहित दिखाई दे रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bhori s historic Kajali fair today preparations complete