DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भदोही: कागजों पर अपराध व विकास के आंकड़े हो रहे दुरुस्त

कानून व्यवस्था को लेकर विरोधी दलों के निशाने पर चल रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों की नकेल कसनी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में वे तीन जून को मिर्जापुर आ रहे हैं। जहां मंडल स्तरीय समीक्षा बैठक भी लेंगे। उधर, सीएम के आगमन के मद्देनजर जनपद के अधिकारियों की धुकधुकी बढ़ गई है। धरातल पर ना सही, कागजों पर विकास व अपराध के आंकड़े दुरुस्त करने में संबंधित विभागों के अधिकारी व कर्मचारी जी जान से लगे हुए हैं। सूबे के मुखिया के मिर्जापुर आगमन व मंडल स्तरीय समीक्षा बैठक की जानकारी होने के बाद राजस्व, पुलिस, विकास, लोक निर्माण विभाग, नगर पंचायत, बिजली, नहर समेत जनपद के सभी विभागों के अधिकारियों की सांसें अटकी हुई हैं। पिछले दो दिनों से दिन रात एक करके कागज को दुरुस्त किया जा रहा है। अधिकारियों को भय सता रहा है कि आंकड़ों में कहीं गड़बड़ी मिलने पर सीएम नाप न दें। ऐसे में नींद, भूख, प्यास सभी को छोड़कर पूरे दिन के साथ ही देर रात तक कागजों पर विकास का घोड़ा दौड़ाने के साथ ही सरकार बनने के बाद की हुई अपराधिक घटनाओं के निस्तारण की प्रक्रिया को अपटेड किया जा रहा है। सीएम के जनपद में स्थलीय निरीक्षण न करने से अधिकारियों के चेहरे पर राहत के भाव दिखाई दे रहे हैं। भदोही तहसील में कार्यरत एक अधिकारी ने बताया कि पिछले दो दिनों से तहसील दिवस में पड़े प्रार्थना पत्रों का निस्तारण कागजों पर किया जा रहा है। साथ ही सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण समेत अन्य बिन्दुओं को कागजों पर दुरुस्त करने का काम अंतिम दौर में है। कुछ ऐसा ही हाल, जिला मुख्यालय, विकास भवन समेत जनपद के सभी विभागों में देखने को मिल रहा है। अब देखना यह है कि अधिकारियों के कागजी मायाजाल में सीएम उलझ जाते हैं अथवा उनकी खामियां उजागर कर उन्हें दंडित करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bhadohi: Crime and development figures are correct on paper