DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बस्ती › चोरी के पांच वाहन संग तीन अंतरराज्यीय शातिर गिरफ्तार
बस्ती

चोरी के पांच वाहन संग तीन अंतरराज्यीय शातिर गिरफ्तार

हिन्दुस्तान टीम,बस्तीPublished By: Newswrap
Sat, 26 Jun 2021 10:01 PM
चोरी के पांच वाहन संग तीन अंतरराज्यीय शातिर गिरफ्तार

बस्ती। निज संवाददाता

बस्ती व संतकबीरनगर की संयुक्त पुलिस टीम ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने धरपकड़ की जानकारी देते हुए बताया कि बस्ती की स्वॉट व संतकबीरनगर की एसओजी के साथ मिलकर पुरानी बस्ती थाना पुलिस ने तीनों शातिरों को फोरलेन पर चैनपुरवा ओवरब्रिज के पास से घेराबंदी कर दबोचा। इनकी निशानदेही पर रायबरेली व बस्ती जिले से चोरी वाहन बरामद किए गए हैं। कुछ वाहनों को यह गैंग बेच चुका है। इस रैकेट के तीन अन्य शातिरों का नाम सामने आया है। उनकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

एसपी ने बताया कि गैंग का सरगना रमेश कुमार शाह निवासी निर्मल टोला मोहम्मदपुर थाना बरौली जनपद गोपालगंज बिहार का है। उसके साथी युनूस निवासी बिन्दुसार बुजुर्ग थाना मुफसिल जनपद सिवान बिहार और शौकत अली निवासी सरैयागंज थाना नगर जनपद मुजफ्फरपुर बिहार को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में पता चला कि बिहार सीवान जिले के हसनपुर थाना क्षेत्र के पतियांव निवासी विशाल यादव व सचिन वर्मा उर्फ सोनू रेकी कर वाहनों की चोरी करते थे।

इसके बाद रमेश कुमार शाह, युनूस और मनीष (फरार) को चोरी के वाहन बेचने के लिए सौंप देते थे। जिन वाहनों की स्थिति बेचने लायक नहीं होती थी, उसे कबाड़ी शौकत अली को काटने के लिए सौंप देते थे। फरार विशाल, सचिन उर्फ सोनू व मनीष की तलाश के लिए पुलिस टीमें लगातार छापेमारी में जुटी हैं। पकड़े गए शातिरों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

बस्ती। एसपी ने बताया कि यह गैंग चोरी के बाद सबसे पहले गाड़ी का नंबर प्लेट बदल देता था। इसके बाद इंजन व चेसिस नंबर को भी उसी हिसाब से चेंज कर फर्जी कागजात तैयार कर उसका सौदा कर देते थे। छह सदस्यीय गैंग में दो शातिर रेकी कर वाहन चोरी करते थे। इसके बाद तीन लोगों को इसे बेचने की जिम्मेदारी मिल जाती थी।

सत्रह जून को दो चोरियों के बाद पीछे पड़ी टीम

जिले के पुरानी बस्ती व हर्रैया थाना क्षेत्र में तबाड़तोड़ वाहन चोरियों के बाद एसपी ने स्वॉट टीम प्रभारी विकास यादव को चोरों की धरपकड़ की कमान सौंप दी। पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि सत्रह जून को हर्रैया कस्बे से कार चुराने के साथ ही इसी दिन पुरानी बस्ती थाने के हड़िया फ्लाईओवर के अमौली पेट्रोल पम्प के पास से पिकअप चोरी की थी। इसका नंबर बदल दिया था।

हर्रैया कस्बे से इसी साल 23 अप्रैल और नौ जून को पिकअप चोरी की थी। तीस अप्रैल की रात बाईपास रोड जनपद रायबरेली से एक पिकअप पर हाथ साफ किया था। इन सभी वाहनों का नंबर बदलने के साथ ही इनका सौदा करने की फिराक में जुटे शातिरों तक पहुंचने में पुलिस कामयाब रही। इनके पास से बरामद एक लग्जरी कार कहां से चोरी हुई, इसकी जानकारी पकड़े गए शातिर नहीं दे सके हैं। गैंग के फरार सदस्यों की तलाश में पुलिस टीमें जुटी हैं। तीनों आरोपितों का आईपीसी की धारा 379, 411, 413 , 419, 420, 467, 468, 471 से सम्बन्धित मुकदमे में चालान किया गया है। इनके कब्जे से 3850 रुपये नगद भी बरामद हुए हैं।

संबंधित खबरें