DA Image
6 अगस्त, 2020|6:31|IST

अगली स्टोरी

बस्ती में छह फर्जी शिक्षकों ने विभाग को लगाया ढाई करोड़ का चूना

बस्ती में छह फर्जी शिक्षकों ने विभाग को लगाया ढाई करोड़ का चूना

पैन कार्ड सत्यापन के दौरान सामने आए फर्जीवाड़े में छह शिक्षकों की सेवा समाप्त करने के साथ विभागीय स्तर से मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है। इन आधा दर्जन शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा विभाग को करीब ढाई करोड़ रुपये की चपत लगाई है। वर्षों से सहायक अध्यापक के तौर पर वेतन आहरित करने वाले इन शिक्षकों से अब वसूली की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

दूसरे के नाम पर नौकरी करने की शिकायत पर बीएसए अरुण कुमार ने जांच बैठाई थी। इसमें जिले में करीब दस से 15 साल पूर्व से कार्यरत आधा दर्जन शिक्षकों के कूटरचित व फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नियुक्ति हासिल करने की पुष्टि हुई थी। इसके बाद सभी को चार जुलाई को बर्खास्त कर दिया गया था।

बेसिक शिक्षा कार्यालय से मिली रिपोर्ट के अनुसार जांच में फर्जी निकले सतीश प्रसाद प्रधानाध्यापक, प्राथमिक विद्यालय गुलरिहा सेमरा, ब्लॉक बनकटी ने 28 लाख 81 हजार 692 रुपये वेतन के तौर पर आहरित किया है। विपिन कुमार सहायक अध्यापक, पूर्व माध्यमिक विद्यालय, कटया ब्लॉक गौर ने 34 लाख 11 हजार 308 रुपये, प्रियंका चौधरी, प्रधानाध्यापिका, प्राइमरी कबरा खास, कुदरहा ब्लॉक ने 36 लाख 89 हजार 682 रुपये, धु्रव नारायण, सहायक अध्यापक, बढ़या सरदहा, सल्टौआ ब्लॉक ने 50 लाख 14 हजार 115 रुपये और मालती पांडेय, प्रधानाध्यापिका बड़हरकला, हर्रैया ने 83 लाख 39 हजार 11 रुपये वेतन के रूप में प्राप्त किया है।

कोट

जांच में फर्जी निकले सभी छह सहायक अध्यापकों को बर्खास्त कर दिया गया है। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के साथ ही आहरित वेतन की रिकवरी के लिए नोटिस जारी कर दिया गया है। नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

- अरुण कुमार, बीएसए

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Six fake teachers looted two and a half crores in the township