DA Image
30 नवंबर, 2020|4:21|IST

अगली स्टोरी

लाल निशान से 16 सेमी ऊपर पहुंची सरयू, दहशत

लाल निशान से 16 सेमी ऊपर पहुंची सरयू, दहशत

सरयू नदी का जल स्तर बुधवार को भी तकरीबन चार सेंमी अधिक बढ़ गया। दिन-प्रतिदिन हो रही जल स्तर में वृद्धि से ग्रामीण दहशत में हैं कि कही उनके खेतों को बाढ़ की विभीषिका न लील ले। घरों तक नाव चलने की स्थिति न बन जाए। वहीं बाढ़ खंड सीसीटीवी कैमरों से बाढ़ का जायजा लेने व ठोकरों को बचाने में लगा हुआ है।

ठोकर बचाने में जुटे बाढ़ विभाग के मजदूर

दुबौलिया। सरयू नदी का जलस्तर रविवार से ही लगातार बढ़ रहा है, जिससे तटबंधों पर दबाव भी बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को सरयू जहां खतरे के निशान से 12 सेंमी ऊपर बह रही थी, वहीं बुधवार को जलस्तर खतरे के निशान से 16 सेंटीमीटर ऊपर रिकार्ड किया गया। जिले के अतिसंवेदनशील तटबंध कटरिया-चांदपुर पर दबाव तेज है। जहां बाढ़ खंड मरम्मत कार्य जारी रखे हुए है। तटबंध पर लगे सीसीटीवी कैमरे से लगातार निगरानी किया जा रहा है। कटरिया गांव के पास बैठे ठोकर नंबर एक पर दबाव के चलते मरम्मत कार्य तेजी से चल रहा है।

घघौवा पुल से फोरलेन पार कर बह रही धारा

कोहराएं। लगातार जल स्तर बढ़ने से सरयू नदी का पानी अगल-बगल के गांवों में पहुंच गया है। वहीं घघौवा पुल से पानी फोरलेन पार कर आसपास के क्षेत्रों में तांडव मचा रही है। केंद्रीय जल आयोग अयोध्या के अनुसार बुधवार की सुबह से शाम चार बजे तक जलस्तर स्थिर रहा पर गुरुवार को भी जलस्तर बढ़ने का अंदेशा है। फसलें जलमग्न हो गई हैं जिससे अब हाइवे पार सब्जियों की खेती करने वाले किसानों को नकदी फसल के नुकसान की चिंता सताने लगी है। इधर उफनाई नदी का पानी केशवपुर के पास बाघानाला, भरथापुर, चानपुर व संदलपुर में रौद्र रूप दिखा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Saryu reached 16 cm above red mark panic