DA Image
26 नवंबर, 2020|4:36|IST

अगली स्टोरी

चौथी बार खतरे के निशान से ऊपर पहुंची सरयू

चौथी बार खतरे के निशान से ऊपर पहुंची सरयू

सरयू नदी चौथी बार फिर खतरे के निशान से 20 सेमी ऊपर बहने लगी है। इससे तटवर्ती गांवों के बाशिंदों में दहशत बढ़ गई है। ग्रामीण अपनी-अपनी गृहस्थी सहेजने में जुट गए हैं। उन्हें भय है कि कहीं उनके गांव फिर न पानी से घिर जाएं और उनकी दुश्वारियां बढ़ जाएं।

दर्जन भर गांवों में फिर बढ़ा पानी, कटान का संकट

कोहराएं। सरयू नदी का जलस्तर इसी मानसून काल में चौथी बार खतरे के निशान को पार कर गया है। तेजी से बढ़ते जलस्तर को देख ग्रामीणों मे दहशत बढ़ गई है। कुछ राहत पाए दर्जन भर गांवों में फिर मैरुंड होने का खतरा बढ़ गया है। केंद्रीय जल आयोग अयोध्या के अनुसार मंगलवार को दिन में करीब तीन बजे सरयू नदी का जलस्तर 92.930 मीटर पहुंच गया, यह खतरे के निशान से 20 सेमी ऊपर हो गया है। अनुमान है कि बुधवार को सुबह आठ बजे नदी दो सेमी प्रति घंटे की औसत बढ़ोत्तरी कर 93.300 मीटर पर पहुंच जाएगी।

ठोकर नंबर एक पर बढ़ा दबाव, कभी हो सकता है क्षतिग्रस्त

दुबौलिया। सरयू नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ने के कारण ठोकर नंबर एक पर दबाव बढ़ गया है। इससे तटवर्ती गांवों में फिर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। ग्रामीण हैरान हैं कि आखिर इसी दो महीने के अंदर सरयू चौथी बार खतरे के निशान को पार कर गई। कटरिया चांदपुर-तटबंध पर बने ठोकर नंबर एक पर लगातार दबाव बना हुआ है और बाढ़ खंड क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत कराने में जुटा हुआ है। सुविखा बाबू, टेढवा, भूअरिया और विशुनदासपुर के पुरवे में बाढ़ का पानी तेजी से फैलने लगा है। बाढ़ खंड के जेई स्वप्निल श्रीवास्तव ने बताया कि तटबंध पर नजर रखी जा रही है और क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत भी की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sarayu reached above danger mark for the fourth time