DA Image
16 जनवरी, 2021|4:53|IST

अगली स्टोरी

नकली शराब प्रकरण में चार सरकारी दुकानों के लाइसेंस निलंबित

नकली शराब प्रकरण में चार सरकारी दुकानों के लाइसेंस निलंबित

नकली शराब को असली बनाकर सरकारी ठेके से बेचने के मामले में आबकारी विभाग ने तेजी दिखाते हुए चार देशी शराब की दुकानों का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। जिला आबकारी अधिकारी नवीन कुमार सिंह ने बताया कि निलंबन के बाद प्रकरण में अग्रिम कार्यवाही नियमानुसार शुरू कर दी गई है।

शहर कोतवाली के बड़ेवन चौकी के पास 18 अगस्त की शाम पुलिस व स्वॉट टीम की दबिश नकली शराब बनाने की फैक्ट्री का खुलासा हुआ था। भारी मात्रा में नकली बंटी-बबली के साथ रेपर, बारकोड व अन्य सामान बरामद हुए थे। मौके से पकड़े गए दो आरोपितों ने पूछताछ में चार सरकारी देशी की दुकानों पर सप्लाई की बात कबूली थी।

इसके आधार पर टीम ने फुलवरिया नगर बाजार सरकारी देशी शराब की दुकान के सेल्समैन दीपक उर्फ दीपू सोनकर निवासी मितनजोत थाना नगर, चरकैला सरकारी ठेके के सेल्समैन जितेन्द्र कुमार निगम उर्फ डिम्पल निवासी चरकैला थाना कलवारी, कजियापार (चिलमा बाजार) ठेके के सेल्समैन सुरजीत कुमार निवासी सबई थाना दुबौलिया और नरथरी चौराहा ठेके के सेल्समैन राजेश कुमार सिंह निवासी गड़हा दलथम्मन थाना पैकोलिया को गिरफ्तार कर लिया था। यहां दुकान में मिली शराब को जब्त कर लिया गया था।

प्रकरण में चारों के सरकारी ठेकों के मालिकों के साथ नकली शराब बनाने के लिए सामाग्री उपलब्ध कराने वाले संदेश उर्फ छोटू को भी नामजद किया गया है। ये पांचों अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। रैकेट के खुलासे के साथ ही चारों सरकारी ठेकों का अनुबंध समाप्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:License of four government shops suspended in fake liquor case