DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बस्ती  ›  किसान संगठन आज मनाएंगे काला दिवस, प्रशासन अलर्ट
बस्ती

किसान संगठन आज मनाएंगे काला दिवस, प्रशासन अलर्ट

हिन्दुस्तान टीम,बस्तीPublished By: Newswrap
Wed, 26 May 2021 04:41 AM
किसान संगठन आज मनाएंगे काला दिवस, प्रशासन अलर्ट

बस्ती। हिन्दुस्तान टीम

किसानों के आंदोलन के छह माह पूरे होने पर किसान संगठन 26 मई को काला दिवस के रूप में मनाएंगे। वर्तमान में कोविड-19 के चलते बने हालात में गांव-गांव बिना भीड़ एकत्र किए विरोध जताने की तैयारी किसान संगठन कर रहे हैं। दूसरी तरफ प्रशासन भी इसे लेकर पूरी तरह अलर्ट है। खुफिया एजेंसियां भी लगातार नजर बनाए हुए हैं। किसी तरह के सार्वजानिक कार्यक्रम की अनुमति नहीं है। ऐसे में भी थानों को भी पूरी तरह चौकन्ना रहने का निर्देश दिया गया है।

किसान नेता व भारतीय किसान यूनियन के मण्डल उपाध्यक्ष दीवान चन्द पटेल ने बताया कि यूनियन के दिशा-निर्देश पर 26 मई को काला दिवस तहसील, ब्लॉक व ग्रामीण क्षेत्र में मनाया जाएगा। केंद्र सरकार के विरोध में पुतला भी जलाया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र में संगठन के लोग जहां रहेंगे, वहीं पर काला दिवस मनाएंगे। कोविड-19 को देखते हुए भीड़ एकत्र नहीं की जाएगी।

भानपुर तहसील क्षेत्र के नकथर गांव निवासी भाकियू लोकशक्ति गुट के मंडल अध्यक्ष अयोध्या नाथ तिवारी ने भी 26 मई को किसान नेताओं के स्तर से काला दिवस मनाने का समर्थन किया। कहा कि केन्द्र सरकार जब तक न्यूनतम सर्मथन मूल्य के लिए कानून नहीं बनाती, तब तक केन्द्र सरकार के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा। सरकार की नीतियां किसान विरोधी है। कोरोना काल में 13 किमी दूर गेहूं खरीद केन्द्र बना दिए जाने से अधिकांश किसान गेहूं नहीं बेच पाए। सरकार को तीनों नए कृषि कानून वापस लेना ही होगा।

किसान नेता व चेयरमैन गन्ना परिषद बस्ती सतीश सिंह ने कहा कि काला दिवस मनाया जाना चाहिए और इसे मनाएंगे भी। किसानों की समस्याओं को लेकर पश्चिमी यूपी में किसान धरनारत है और अब तक समस्या का हल नहीं निकल पाया है। काला दिवस मनाकर किसान सरकार को सन्देश दे रहे हैं कि जल्द ही समस्या का हल निकला जाना चाहिए। पूरा देश वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। लिहाजा लॉकडाउन का पालन करते हुए घर में ही मौन रहकर काला दिवस का समर्थन करेंगे।

संबंधित खबरें