ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमहिला समूहों ने सीखे आपदा से बचाव के तरीके, स्क्रीन पर देखी बर्बादी

महिला समूहों ने सीखे आपदा से बचाव के तरीके, स्क्रीन पर देखी बर्बादी

आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...

आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
1/ 3आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
2/ 3आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
3/ 3आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी...
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीFri, 01 Mar 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

आपदा के दौरान नुकसान को कम करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी बढ़ाने के गुरुवार को संजय कम्युनिटी हॉल में मंडलीय वर्कशाप हुई। यूपी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के नेशनल ट्रेनर ने महिलाओं को आपदा से बचाव करना सिखाया। प्राथमिक उपचार की बारीकियां भी बताईं। डीएम रविंद्र कुमार ने महिलाओं को जिम्मेदारी पाठ पढाया।
संजय कम्युनिटी हॉल वीडियो के जरिए महिलाओं को आपदा को दिखाया गया। बरेली मंडल के चारों जिलों की 300 महिलाओं को आपदा जोखिम प्रबंधन के बारे में जानकारी दी गई। आपदा के दौरान आपातकालीन स्थितियों में महिलाओं को जिम्मेदारी निभाने के लिए प्रेरित किया गया। एसडीआरएफ ने बुनियादी जीवन रक्षक कौशल और प्राथमिक चिकित्सा की ट्रेनिंग दी गई। डीएम रविंद्र कुमार ने बाढ़ के जोखिम से बचने के लिए बांध और तटबंध बनाने के बारे में जानकारी दी। आपदा-रोधी भवन का निर्माण करने के बारे में बताया।

भूकंप के दौरान खिड़कियों से दूर रहने की सलाह दी। भूकंप के झटकों के दौरान शीशे के टूटे टुकड़ों से घायल होने की आशंका अधिक रहती है। मजबूत मेज के नीचे छुपने की सलाह दी। आपदा के दौरान घर के बुजुर्गों तथा महिलाओं को सबसे ज्यादा हानि पहुंचती है। उनको जागरूक करने की अधिक जरूरत है।

डीएम स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से यहां से जो सीख जा रहीं हैं उसका आसपास प्रचार-प्रसार करने की अपील की। डीएम ने आपदा की चेतावनी की जानकारी के लिए दामिनी ऐप को एंड्रायड फोन में अपलोड करने को कहा। इस दौरान एडीएम फाइनेंस संतोष बहादुर सिंह, अवनीश यादव, शुभ अक्षत सिंह आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें