ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशतहसील में महिला ने तहसीलदार और कर्मियों के खिलाफ की नारेबाजी हंगामा

तहसील में महिला ने तहसीलदार और कर्मियों के खिलाफ की नारेबाजी हंगामा

एक ग्रामीण महिला ने गुरुवार दोपहर तहसील कार्यालय परिसर में अचानक जोर-जोर से तहसीलदार और उनके अधीनस्थ कर्मियों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर...

तहसील में महिला ने तहसीलदार और कर्मियों के खिलाफ की नारेबाजी हंगामा
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीFri, 01 Dec 2023 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

एक ग्रामीण महिला ने गुरुवार दोपहर तहसील कार्यालय परिसर में अचानक जोर-जोर से तहसीलदार और उनके अधीनस्थ कर्मियों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इससे वहां अफरातफरी मच गई। भीड़ जमा हो गई और पुलिस बुलानी पड़ी। महिला ने एक मामले में गंभीर आरोप लगाये हैं। एसडीएम ने टीम बनाकर मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं और संबधित फाइल तलब की है। उन्होंने आरोपों को बेबुनियाद बताया है।
गांव निसोई की अमरवती ने तहसील परिसर में गुरुवार की दोपहर नारेबाजी कर रही महिला का आरोप है कि तहसीलदार कोर्ट में उनकी केस पत्रावली में लगाई गई तारीख से पहले ही एक तरफा निर्णय कर दिया गया है। उसे कोर्ट कर्मियों ने आज बाहर कर दिया। इस केस के अधिवक्ता पराग गुप्ता और सुभाष चन्द्र गुप्ता ने बताया कि विरासत को लेकर केस चल रहा है। उसमें 30 नवंबर की तारीख थी। इससे लगभग 20 दिन पहले ही दूसरे पक्ष के हित में निर्णय लिख दिया गया, जबकि पत्रावली बताती है कि केस साक्ष्य में चल रहा है। 13 बीघा भूमि का मामला है। महिला ने गांव के तीन लोगों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने जबरन उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया है। इसकी शिकायत एसडीएम को दी है। इस बीच ऋषिकेश की पूजा शर्मा और उनके वकील इन्द्रपाल सिंह एडवोकेट ने भी बताया कि तहसीलदार कोर्ट में दूसरे पक्ष ने दो बीघा भूमि का अमल दरामद मांगा था, लेकिन तहसीलदार ने तो पूरी सात बीघा भूमि का ही दाखिल खारिज उनके पक्ष में कर दिया।

पूरा मामला उनके संज्ञान में आया है, संबन्धित फाइल को तलब किया है, जांच की जायेगी। मौके पर राजस्व टीम भेजकर भी पड़ताल कराने के निर्देश दिए हैं। तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जायेगी।

-गोविन्द मौर्य, एसडीएम आंवला

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।