DA Image
24 सितम्बर, 2020|11:07|IST

अगली स्टोरी

बरेली में करोड़ों रुपये के वाहन हो गए कबाड़, जानिए वजह

बरेली में करोड़ों रुपये के वाहन हो गए कबाड़, जानिए वजह

तय अवधि तक रजिस्ट्रेशन न होने पर करोड़ों की कीमत की बीएस-4 वाहन कबाड़ में तब्दील हो गए। अस्थायी पंजीयन पर चल रहे इन वाहनों का रजिस्ट्रेशन 30 अप्रैल तक होना था लेकिन खरीदार के दूसरे जिले में होने के कारण लोग जिले में पहुंच ही नहीं पाए। बीएस-4 वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 30 अप्रैल तक की समय सीमा तय की थी। ऐसे में पंजीकरण के लिए लॉकडाउन के बावजूद आरटीओ कार्यालय खोला गया। 7 दिन चली प्रक्रिया के दौरान जिले में 5700 वाहन पंजीकृत किए गए। बावजूद बड़ी संख्या में वाहन स्वामी रजिस्ट्रेशन कराने से चूक गए। इनमें अधिकांश ऐसे वाहन हैं जो दूसरे जिलों में खरीदे गए और अस्थायी पंजीयन पर सड़कों पर दौड़ रहे थे। आरटीओ अधिकारियों की ओर से इन्हें लगातार मैसेज भेजकर रजिस्ट्रेशन के लिए बुलाया गया। बावजूद 60 वाहन चालक रजिस्ट्रेशन के लिए नहीं पहुंच पाए। रजिस्ट्रेशन के लिए छूट की समय सीमा समाप्त होने के बाद अब यह वाहन कबाड़ हो गए हैं। अधिकारियों की माने तो पंजीयन न होने वाली कई गाड़ियां महंगी कीमत की हैं।

पंजीयन के लिए वाहन स्वामियों को मैसेज भेजकर बुलाया गया था। बावजूद कई लोगों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया। इनमें अस्थायी पंजीयन वाले 60 वाहन भी शामिल हैं। अब यह वाहन कबाड़ माने जाएंगे। -आरपी सिंह, एआरटीओ प्रशासन

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Vehicles worth crores of rupees become junk in Bareilly know the reason