DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वन अफसरों को सता रही जिंदा तीन तेंदुओं की चिंता

वन अफसरों को सता रही जिंदा तीन तेंदुओं की चिंता

हाफिजगंज में एक तेंदुए की पीटकर हत्या किए जाने के बाद वन अफसरों को जिले में खौफ मचा रहे तीन तेंदुओं की चिंता सताने लगी है। बहेड़ी, मीरगंज और हाफिजगंज इलाके में अब भी दो से तीन तेंदुए देखे जा रहे हैं। इस पर क्षेत्रीय रेंजरों को निर्देश दिए गए हैं कि यदि कहीं तेंदुआ दिखने की सूचना मिलती है तो तुरंत उसकी निगरानी करें। तब तक टीम उस इलाके से नहीं हटेंगी, जब तक उसको चिह्नित करके पकड़ा न जा सके।

वन अधिकारियों का कहना है कि जिस दिन हाफिजगंज के गांव कमुआ में आक्रोशित भीड़ ने एक तेंदुए को पीट-पीटकर मार डाला था। उसके अगले दिन फिर से उस इलाके में एक तेंदुआ देखा गया। वन विभाग की टीम को एक पेड़ पर तेंदुए के बाल मिले थे। तेंदुआ, बाघ ऐसे जीव हैं, जो अपने इलाके में कब्जा करने को जहां-तहां पेशाब या मल छोड़ते हैं। अपना पसीना पेड़ों और टहनियों में रगड़ देते हैं। जैसे उनकी गंध दूर से दूसरे पशुओं को पता चल जाए। कोई दूसरा तेंदुआ या बाघ उस इलाके में न आए। वन अधिकारियों की टीम ने भी माना है कि हाफिजगंज इलाके में एक और भी तेंदुआ है। हालांकि कुछ दिनों पहले बहेड़ी में कई बार तेंदुआ देखा गया। मीरगंज इलाके में तो कई महीने से तेंदुआ देखा जा रहा है। इसलिए स्पष्ट है कि करीब तीन तेंदुए बरेली की सीमा में हैं। तराई इलाके में रामगंगा किनारे ठंडे इलाकों में रहते हैं। यह जीव रात को ही निकलता है। जहां अधिक पेड़ पौधे होते हैं, वहीं रहते हैं। पेड़ों पर चढ़ जाता है। पूर दिन पेड़ पर ही सोता है। बाघ और शेर से खुद को बचाए रखते हैं। बरेली के देहात इलाकों में बार-बार तेंदुओं का दिखना वन विभाग को चिंतित कर रहा है। वैसे तो कोई खतरा नहीं है क्योंकि यह जीव जल्दी इंसानों पर हमला नहीं करते हैं। बल्कि खुद को छुपाकर रखते हैं लेकिन यदि कोई इनके पास ही आ जाए तो खुद को बचाने के लिए हमला कर देते हैं। एक रात में तेंदुआ कम से 100 से 150 किलोमीटर का एरिया घूमता है। रात को 20-25 किलो मांस खाने के बाद पूरे दिन सोता है। जब सूरज ढलता है तो अपने इलाके में निकलता है। मुख्य वन संरक्षक एवं वन संरक्षक प्रभारी पीपी सिंह का कहना है कि जहां-जहां तेंदुआ देखे गए हैं, वहां-वहां जांच टीम लगी हैं। देखे गए तेंदुओं के फोटो का मिलान भी कराया जा रहा है। तेंदुए के दिखने की कई सूचनाएं भी आ चुकी हैं। क्षेत्रीय टीम सक्रिय हैं, जिससे तेंदुआ की सुरक्षा की जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three leopards worried about harboring forest officers