बरेली

बरेली-चंदौसी रेल ट्रैक दोहरीकरण को सर्वे शुरू, रेल मंत्रालय ने दी मंजूरी

कार्यालय संवाददाता , बरेली Last Modified: Mon, Jan 06 2020. 12:36 AM IST
offline

उत्तर रेलवे मुरादाबाद मंडल के बरेली-चंदौसी रेल रूट के विस्तार का काम शुरू हो गया है। रेलवे बोर्ड की टीम ने रेल लाइन दोहरीकरण को सर्वे शुरू कर दिया है। तीन चरण में लाइन बिछाई जाएगी। मुरादाबाद से चंदौसी, चंदौसी से बरेली और चंदौसी से अलीगढ़ रेल रूट पर दोहरीकरण होगा। बरेली-चंदौसी सेक्शन में इलेक्ट्रिक का काम चल रहा है। अप्रैल में बजट जारी होगा। डीआरएम तरुण प्रकाश का कहना है कि   सर्वे पूरा होने के बाद पटरी बिछाने का काम शुरू होगा।

रेल मंत्रालय ने 2019-2020 के बजट में मंजूरी दी थी। दोहरीकरण को लेकर 235 करोड़ का प्रोजेक्ट था।  हालांकि 2019 में ही इस रूट पर ओएचई लाइन बिछाने को युद्धस्तर पर काम हुआ है। बिजली के पोल लगाए जा चुके हैं। बरेली-रामगंगा, आंवला-चंदौसी रेल रूट को ब्रांच लाइन कहा जाता है। यहां सिंगल रेल पटरी है। कैंट स्टेशन से रामगंगा होकर जाती हैं, या फिर जंक्शन से रामगंगा को निकलती है। जब यहां दोहरीकरण हो जाएगा तो इस रूट की स्टेशनों का भी विस्तार होगा।  आंवला में तेल डिपो है, इसलिए रेल रैक से अच्छा राजस्व मिलता है। इस रूट पर ढुलाई कार्य का विस्तार किया जाएगा।  

190 किलोमीटर लंबी लाइन बिछेगी 

उत्तर रेलवे मुरादाबाद मंडल में ब्रांच लाइन बरेली-चंदौसी, अलीगढ़ रूट पर 190 किलोमीटर दोहरीकरण होगा। बरेली से चंदौसी 70 किलोमीटर, चंदौसी से मुरादाबाद 40 किलोमीटर और चंदौसी से अलीगढ़ 80 किलोमीटर पटरी बिछाई जाएगी। इस काम को 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। प्राइवेट एजेंसी के माध्यम से दोहरीकरण कार्य को पूरा किया जाएगा।  

Read in App

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें