ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशरामायण नृत्य नाटिका देख दर्शक हुए मुग्ध

रामायण नृत्य नाटिका देख दर्शक हुए मुग्ध

विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...

विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
1/ 3विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
2/ 3विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
3/ 3विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर...
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीFri, 01 Mar 2024 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

विंडरमेयर थिएटर में आयोजित रामायण नाट्य उत्सव के अंतिम दिन लखनऊ से आईं कलाकार नेहा सिंह सेंगर और उनके साथियों ने रामायण नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर दर्शकों को भावविभोर कर दिया। अन्तर्राष्ट्रीय रामायण एवं वैदिक शोध संस्थान, अयोध्या के इस तीन दिवसीय आयोजन में दया दृष्टि चैरिटेबल ट्रस्ट तथा नाट्य मंडली रंगविनायक रंगमंडल का सहयोग रहा।
नाट्य उत्सव में गुरुवार को अंतिम दिन नेहा सिंह सेंगर व साथियों ने सर्वप्रथम गणेश वंदना की। इसके बाद कथक नृत्य पर आधारित नाटिका में प्रभु राम का जन्म, जनकपुरी में राम का आगमन, स्वयंवर, वन गमन, सीता हरण तथा रावण वध का मंचन किया। नाटिका का निर्देशन व कोरियोग्राफी पंडित अनुज मिश्रा की रही। कलात्मक निर्देशन नेहा सिंह सेंगर ने किया। पंडित अनुज मिश्रा ने प्रभु राम, नेहा सिंह सेंगर ने सीता, अंश मिश्रा ने राम के बाल रूप, प्रीतम दास ने लक्ष्मण, विवेक वर्मा विभीषण, मानसी मिश्रा ने देवी दुर्गा, प्रेरणा विश्वकर्मा ने कैकेयी, वंशिका शर्मा ने जटायु, यासमीन ने कौशल्या, अमन सोनकर ने राजा जनक के किरदार निभाए।

आरती बघेल, मैत्री चौहान तथा दिव्यांशी मिश्रा ने सूत्रधार की भूमिका निभाई। संगीत निर्देशन पंडित अनुज मिश्रा, पंडित राहुल व रोहित मिश्रा ने किया। अंत में दया दृष्टि चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ. बृजेश्वर सिंह ने विंडरमेयर थिएटर को सहयोगी की भूमिका में चुनने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय रामायण एवं वैदिक शोध संस्थान के निदेशक डॉ. लवकुश द्विवेदी तथा कार्यक्रम समन्वयक रमेश चंद्र को धन्यवाद ज्ञापन दिया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें