DA Image
8 अप्रैल, 2020|1:54|IST

अगली स्टोरी

UP : बरेली में स्कूल प्रबंध को मिली पुलवामा जैसे हमले की धमकी

school management in bareilly received threat of pulwama attack

स्कूल और घर में बम लगा दिया है। उसका रिमोट कंट्रोल मेरे हाथ में है। तेरे पास 24 घंटे हैं। अपने घर और स्कूल के बच्चों को मारना चाहता है या दोनों को बचाना चाहता है। तुझे डिसाइड करना है। कल सुबह सात बजे तेरे स्कूल के पास एक पार्टी मिलेगी। उसकी बात मान लेना, वरना पुलवामा जैसा धमाका होगा और सब खत्म। चनेहटा में जूनियर हाई स्कूल के प्रबंधक ने जब ये लेटर देखा तो उनके होश उड़ गये। स्कूल के प्रबंधक अनिल कुमार सिंह शनिवार रात करीब साढ़े आठ बजे अपनी पत्नी के साथ मार्केट से लौटे थे। दरवाजा खोलकर घर के अंदर गये तो लिफाफा पड़ा था। उसे खोला तो उसमें एक धमकी भरा पत्र निकला। उसमें बम का जिक्र सुनते ही प्रबंधक के पसीने छूट गए।

उन्होंने फौरन शिक्षा विभाग के अधिकारियों और थाना पुलिस को मामले की सूचना दी।  सीओ प्रथम अशोक कुमार, इंस्पेक्टर कैंट पुलिस टीम के साथ वहां पहुंच गये। कुछ देर बाद एसएसपी भी मौके पर पहुंचे। स्कूल से लेकर अनिल सिंह के घर की तलाशी ली गई। हर कमरे, टायलेट, किचेन, छत, स्टोर रूम को खंगाला गया, लेकिन कहीं बम नहीं मिला। देर रात तक पुलिस घर और स्कूल छानती रही लेकिन कुछ हाथ नहीं आया। चनेहटा में स्कूल के पास ही अनिल कुमार सिंह का घर भी है। उन्होंने घटना की तहरीर कैंट थाने में दी। एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया, धमकी देने के आरोप में केस दर्ज किया गया है।

एफआईआर दर्ज करने में कैंट पुलिस ने किया खेल

धमकी देने के मामले में कैंट पुलिस ने खेल कर दिया। प्रबंधक की तहरीर पर मुकदमे के बजाय एनसीआर दर्ज की है। जबकि आईपीसी की धारा 506 और 507 में मुकदमा दर्ज किए जाने का प्रावधान है। मोबाइल या पत्र द्वारा दी जाने वाली धमकी आईपीसी की धारा 507 और आमने-सामने दी जाने वाली जान से मारने की धमकी में आईपीसी की धारा 506 का इस्तेमाल किया जाता है। 

कॉलेज में पढ़ने वाले लड़के की शरारत

इंस्पेक्टर कैंट धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि लेटर लिखने के लिये जिस कागज का इस्तेमाल किया गया है। वैसे ही कागज की साइंस कॉपी स्कूल में चलती है। हैंड राइटिंग से भी लग रहा है कि जूनियर हाई स्कूल के बच्चे का ही कारनामा है। स्कूल के बच्चों की कॉपियों से हैंड राइटिंग का मिलान कराया जा रहा है।

सहारनपुर से आया बम स्क्वायड दस्ता

सीओ प्रथम अशोक कुमार ने बताया कि पीएसी आठवीं बटालियन का बम स्क्वायड दस्ता बरेली में मौजूद नहीं था। जिस पर एसएसपी ने सहारनपुर पुलिस कप्तान से बात की। वहां से टीम पहुंची। चनेहटा में स्कूल, घर व आस पास तलाशी ली गई, लेकिन बम कहीं नहीं मिला।

पुलवामा हमले का नाम आने के बाद पुलिस अलर्ट

लेटर में पुलवामा का जिक्र आने के बाद पुलिस और सतर्क हो गई। दरअसल पुलवामा हमले के दो दिन पहले एक साल पूरा हुआ है। इसके फौरन बाद स्कूल और घर में बम रखने व पुलवामा जैसा हमला करने की धमकी ने पुलिस में बेचैनी बढ़ा दी है। 

धमकी भरे लेटर में ये लिखा है

सुन बे तेरे पास ज्यादा समय नहीं है। जो कहता हूं उसे ध्यान से सुन घर और स्कूल में बंब रखा हुआ है। उसका रिमोट मेरे पास है। अब तुझे डिसाइड करना पड़ेगा कि घर वालों को मारना चाहता है कि स्कूल के बच्चों को मारना चाहता है या दोनों को बचाना चाहता है तो कल सुबह सात बजे से आठ बजे के बीच में तुझे एक पार्टी मिलेगी तेरे स्कूल के पास में। तेरे पास समय 24 घंटे का है। उसके बाद एक धमाका होगा जैसे पुलवामा में हुआ था। ज्यादा होशियार बनने की कोशिश मत करना। ज्यादा होशियार बने तो बहुत बुरा होगा। आचार्य जी। ए.के। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:School management in Bareilly received threat of Pulwama attack