DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  पूर्व प्रधान के दामाद ने भाड़े के हत्यारों से कराई थी प्रधान की हत्या

बरेलीपूर्व प्रधान के दामाद ने भाड़े के हत्यारों से कराई थी प्रधान की हत्या

हिन्दुस्तान टीम,बरेलीPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:21 AM
पूर्व प्रधान के दामाद ने भाड़े के हत्यारों से कराई थी प्रधान की हत्या

पूर्व प्रधान के दामाद ने भाड़े के हत्यारों से परगवां के प्रधान इशहाककी हत्या कराई थी। पुलिस ने खुलासा कर आरोपी पूर्व प्रधान मोहर सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में पूछताछ की जा रही है। प्रधान का दामाद अभी फरार है। उसके गिरफ्तारी के बाद ही भाड़े के हत्यारों का सुराग लगेगा। पूर्व प्रधान ने हत्या में बेटे के शामिल होने से इनकार किया है।

20 मई को परगवां गांव के प्रधान मृतक हाफिज इशहाक रजवी व उसकी पत्नी सखीना पर शहर से घर जाते समय बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में इशाक की बहन शीबा रानी की ओर से गांव के ही पूर्व प्रधान व प्रधान प्रत्याशी मुख्य आरोपी मोहर सिंह, उसके बेटे अनुराग, दामाद भगवत पटेल समेत दूसरे प्रधान प्रत्याशी रतनलाल व उसके बेटे राहुल पर नामजद मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में नामजद आरोपी रतनलाल व उसके बेटे राहुल को पुलिस ने अगले दिन ही गिरफ्तार कर लिया था। वहीं फरार आरोपी मोहर सिंह, अनुराग व भगवत पर एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने रविवार को 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया था।

वहीं सोमवार को ही पुलिस ने आरोपी केसरपुर के पास स्थित एक गांव से मोहर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। जिसने पूछताछ में अपना जुर्म कुबूल कर लिया है। आरोपी मोहर सिंह ने बताया है कि उसका प्रेम संबंध मृतक की रिश्तेदारी में लगने वाली एक महिला से चल रहा था। जिसके सामने ही इशहाक ने उसकी बेइज्जती की थी और गालियां दी थी। इसी रंजिश में उसने अपने दामाद भगवत पटेल को शामिल किया और दामाद ने सुपारी किलर बुलाकर इशहाक रजवी की हत्या करवा दी। वहीं अब पुलिस आरोपी मोहर सिंह के दामाद भगवत पटेल को पकड़ने का प्रयास कर रही है।

- महिला व उसके भाई को भी पुलिस ने लिया हिरासत में

कैंट पुलिस ने मोहर सिंह की प्रेमिका व उसके भाई को भी पूछताछ के लिये हिरासत में लिया है। जानकारी के मुताबिक महिला अपने भाई के मोबाइल से ही मोहर सिंह से बात करती थी। इसके साथ ही इशाक के नंबर पर भी महिला की ओर से उसके भाई के नंबर से कई कॉल हुई है। इसके साथ ही महिला द्वारा ही आरोपी मोहर सिंह को मृतक इशाक और उसकी पत्नी सखीना के निकलने के बारे में जानकारी दी गई थी। जिसके बाद इस घटना को अंजाम दिया गया है। वहीं पुलिस ने महिला व उसके भाई समेत पीड़ित पक्ष की ओर से पांच लोगों को हिरासत में लिया है। जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है।

- आरोपी रतनपाल व उसके बेटे राहुल को पहचानने का दावा

पीड़ित परिवार ने 72 घंटो से भी अधिक समय से पुलिस हिरासत में मौजूद आरोपी रतनलाल व उसके बेटे राहुल को पहचानने का दावा किया है। जिसमें उनका शुरु से ही कहना है कि मृतक की पत्नी सखीना ने राहुल, उसके पिता रतनलाल व मोहर सिंह को पहचान लिया था।

संबंधित खबरें