Nadeem presented the example of communal unity by giving blood to Shivkumar - शिवकुमार को खून देकर नदीम ने पेश की कौमी एकता की मिसाल DA Image
21 नबम्बर, 2019|1:16|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिवकुमार को खून देकर नदीम ने पेश की कौमी एकता की मिसाल

बस यही वो जज्बात हैं, धर्म-मजहब से अलग कौमी एकता है, जिसने अयोध्या मामले में अदालत के निर्णय को सहजता से मंजूर कर लिया। पुलिस-प्रशासन की सख्ती बस बढ़ते आवेश को कैद कर सकती थी, कुछ वक्त के लिए। पर, इस सख्ती से अधिक जरूरी था, बिना किसी दबाव के फैसले को मान लेना। और यह आपसी संबंधों को सहेजने की सोच, साथ भविष्य बनाने की निगाह और संकल्प से ही मुमकिन है। इसी सोच-जज्बे की सुंदर तस्वीर जिला अस्पताल में रविवार को देखने को मिली।

अस्पताल में भर्ती 12 साल के शिवकुमार की तबियत लगातार बिगड़ती जा रही थी और खून चढ़ाना जरूरी हो गया था। परिवार में कोई ऐसा नहीं मिला जो तत्काल खून दे सके। फरीदपुर के नगरिया विक्रमपुर के शिवकुमार की लगातार गंभीर होती हालत देख परिवार के लोगों का दिल बैठने लगा। रिश्तेदार भी खून देने से पीछे हट गए। उसी समय ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर नदीम शम्सी चिल्ड्रेन वार्ड में बच्चों को खिलौने बांटने गए। पता चला कि शिवकुमार को खून की जरूरत है तो नदीम आगे आए। डाक्टर से बात की और खून देने को तैयार हो गए। शिवकुमार को नदीम का खून मिला और कौमी एकता की उम्र बढ़ गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nadeem presented the example of communal unity by giving blood to Shivkumar