DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  मुड़िया का ढाबा मालिक करवा रहा था रजपुरा माफी में खनन
बरेली

मुड़िया का ढाबा मालिक करवा रहा था रजपुरा माफी में खनन

हिन्दुस्तान टीम,बरेलीPublished By: Newswrap
Fri, 04 Jun 2021 03:21 AM
मुड़िया का ढाबा मालिक करवा रहा था रजपुरा माफी में खनन

सीओ तृतीय श्वेता यादव ने खनन माफियाओं का पर्दाफाश कर उन्हें मुकदमे में आरोपी बना दिया है। हाइवे पर ढाबा चलाने वाला पप्पू इलाके में खनन करवा रहा था। हालांकि घटना के बाद से वह फरार हो गया। पुलिस उसकी जेसीबी तलाश कर रही है। इस मामले में दो अन्य आरोपियों की भी पुलिस को तलाश है।

सोमवार को एसडीएम सदर विशु राजा अपने स्टाफ के साथ इज्जतनगर के राजपुरा माफी इलाके में खनन की सूचना पर गये थे। एसडीएम प्राइवेट गाड़ी से थे। लेकिन उनके प्राइवेट ड्राइवर को वहां काफी लोग जानते थे। जिस वजह से खनन माफिया जेसीबी लेकर फरार हो गये। लौटते वक्त गांव के बाहर रहने वाले मुनीश कुमार, ऋषि पाल, लाल करन ने एसडीएम के ड्राइवर पर खनन कराने का आरोप लगाते हुये उसे थप्पड़ मार दिया। इसको लेकर वहां बवाल हो गया था। थाना इज्जतनगर में इस मामले में तीन नामजद व अज्ञात के खिलाफ अवैध खनन, मारपीट, जान से मारने की धमकी, सरकारी काम में बाधा, लोकरक्षक से अभद्रता समेत कई एससीएसटी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। मुकदमे की विवेचना सीओ तृतीय श्वेता यादव को सौंपी गई थी। सीओ ने जांच पड़ताल के बाद पता किया तो मुड़िया का रहने वाला ओमपाल उर्फ पप्पू पटेल वहां खनन करवा रहा था। उसकी जेसीबी चल रही थी। जिस पर सीओ ने उसका नाम मुकदमे में खोल दिया है। जोगी नवादा के रहने वाले नत्थू लाल के खेत से खनन हो रहा था। डेलापीर तुलाशेरपुर का रहने वाला नदीम ठेकेदार वहां से मिट्टी उठाकर तुला शेरपुर श्मशान भूमि में डाल रहा था। पुलिस ने खनन से जुडे़ सभी आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

एक माह की थी खनन की अनुमति

एसडीएम सदर विशु राजा ने दो दिन पहले दो ट्रैक्टर ट्रालियों को खनन की मिट्टी के साथ पकड़ा था। खनन की अनुमति नत्थू लाल के खेत से 16 अप्रैल से 16 मई तक एक माह के लिये दी गई थी। अनुमति खत्म होने के बावजूद खनन माफिया लगातार मिट्टी निकाल रहे थे। इसकी सूचना पर एसडीएम ने छापा मारा था। सीओ ने पूरे मामले की जांच पड़ताल कर कागज तलब कर लिये।

नेताओं का करीबी पप्पू इस वजह से नहीं कसा शिकंजा

मुड़िया का रहने वाला ओमपाल पटेल उर्फ पप्पू व वेद प्रकाश इलाके के खनन माफिया हैं। दोनों की रिपोर्ट इज्जतनगर थाने से पहले ही भेजी जा चुकी है। लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। दरअसल दोनों सांसद और विधायकों से जुड़े हुये हैं। इस वजह से उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई। पिछले दिनों एसडीएम ने वेद प्रकाश की ट्रालियों को सीज कर भोजीपुरा थाने में खड़ा कराया था। इस बार ओमपाल उर्फ पप्पू पटेल की ट्रालियों को सीज किया गया है। हालांकि उसकी जेसीबी की तलाश की जा रही है।

संबंधित खबरें