DA Image
20 सितम्बर, 2020|2:57|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन में मनरेगा का सहारा, 34 हजार मजदूरों के हाथ को मिला काम

लॉकडाउन में मनरेगा का सहारा, 34 हजार मजदूरों के हाथ को मिला काम

लॉकडाउन में बेरोजगार हुए मजदूरों के लिए मनरेगा मसीहा बन गई है। बरेली में 1193 ग्राम पंचायतों में से 891 में मनरेगा के तहत काम शुरू हो गया है। गांव के 34008 मजदूरों को मनरेगा के तहत रोजना काम मिल रहा है। प्रशासन ने दूसरे राज्यों ने लॉकडाउन में घर आने वाले 1748 मजदूरों के जॉब कार्ड बनाकर काम दिया है।

शहर में निर्मरण कार्य बंद होने की वजह से गांव में मजदूरों के सामने रोजगार की दिक्कत आ रही है। शासन के आदेश पर प्रशासन ने 891 ग्राम पंचायतों में तालाबों की खुदाई- नालों की सफाई और चकरोड बनाने का काम शुरू करा दिया। बड़ी संख्या में मजदूर मनरेगा से रोजगार मांग रहे हैं। इतनी बड़ी तादाद में मनरेगा के तहत काम करने वाले मजदूर पहले कभी नहीं आए। प्रशासन ने 34008 मजदूरों के हाथों को रोजगार दे दिया है। मनरेगा के तहत कराए जा रहे काम की हकीकत परखेने के लिए मजदूर दिवस पर शुक्रवार को डीएम नितीश कुमार बिथरी पहुंच गए। तालाब और चकरोड पर काम कर रहे मजदूरों से मुलाकात की। मजदूरों को कपड़े के मास्क बांटे। मजदूरों को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में जानकारी दी। इस मौके पर एसएसपी शैलेश पांडेय और पीडी वीरेंद्र कुमार के साथ डीसी मनरेगा गंगाराम भी मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:MNREGA 39 s support in lockdown 34 thousand laborers got work