ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशजज रवि कुमार दिवाकर ने मुख्य सचिव को पत्र भेजकर समुचित सुरक्षा की मांग

जज रवि कुमार दिवाकर ने मुख्य सचिव को पत्र भेजकर समुचित सुरक्षा की मांग

ज्ञानव्यापी केस में सुनवाई शुरू करने वाले जज रवि कुमार दिवाकर की इस्लामिक कटटरपन्थियों द्वारा हत्या की साजिश रचने के खुलासे के बाद जज ने मुख्य सचिव...

जज रवि कुमार दिवाकर ने मुख्य सचिव को पत्र भेजकर समुचित सुरक्षा की मांग
default image
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीSat, 22 Jun 2024 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

ज्ञानव्यापी केस में सुनवाई शुरू करने वाले जज रवि कुमार दिवाकर की इस्लामिक कटटरपन्थियों द्वारा हत्या की साजिश रचने के खुलासे के बाद जज ने मुख्य सचिव को पत्र भेजकर अपने परिवार को समुचित सुरक्षा देने की मांग की है। इससे पूर्व लखनऊ के विशेष जज ने भी जज दिवाकर को सुरक्षा देने को हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र भेजा था।
बता दें वाराणासी के चर्चित ज्ञानव्यापी केस की सुनवाई जज रवि कुमार दिवाकर ने शुरू की थी। इस्लामिक आगाज मूवमेंट संगठन ने एक पत्र भेजकर जज रवि कुमार दिवाकर को काफिर कहते हुए धमकी दी थी। जिसकी एफआईआर बनारस के थाना कैंट में 8 जून 2022 को दर्ज हुई थी। इसके बाद भोपाल के अदनान खान ने इंस्ट्राग्राम पर जज का फोटो लगाकर उनकी आंखों पर काफिर लिखकर उनकी हत्या को लोगों को दुष्प्रेरित किया था। प्रकरण में लखनऊ के थाना एटीएस गोमतीनगर में एसआई प्रभाकर ओझा ने अदनान खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी थी।

एटीएस ने 14 जून 2024 को अदनान खान को गिरफ्तार करके मामले की विवेचना शुरू की। अदनान के कब्जे से दो मोबाइल फोन और पेनड्राइव भी बरामद हुए। विवेचना में खुलासा हुआ है कि जज रवि कुमार दिवाकर को इस्लामिक कटटरपंथी शक्तियों के द्वारा काफिर घोषित कर उनकी हत्या का षडयंत्र रचा जा रहा है। जज रवि कुमार दिवाकर इस समय बरेली में तैनात हैं। इस प्रकरण में लखनऊ के विशेष न्यायाधीश विवेकानंद शरण त्रिपाठी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र भेजकर जज रवि कुमार दिवाकर को सुरक्षा प्रदान करने की बात कही थी । खुद की हत्या का षडयंत्र रचने का खुलासा होने पर जज रवि कुमार दिवाकर ने खुद को अपने जज भाई दिनेश कुमार दिवाकर और परिजनों को समुचित सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध करने को मुख्य सचिव उप्र को पत्र भेजा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।