DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  रामगंगा नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद सैकड़ों किसानों की फसल तबाह मचा हाहाकार

बरेलीरामगंगा नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद सैकड़ों किसानों की फसल तबाह मचा हाहाकार

हिन्दुस्तान टीम,बरेलीPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 10:20 PM
रामगंगा नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद सैकड़ों किसानों की फसल तबाह मचा हाहाकार

रामगंगा नदी में जलस्तर बढ़ने के बाद किसानों की तैयार पहलेज की फसल तबाह हो गई। किसानों में हाहाकार मचा हुआ है। बाढ़ से तबाह हुए किसानों ने तहसील प्रशासन से मुआवजे की मांग की है। 

फरीदपुर के कादरगंज गांव के सटे इलाके से रामगंगा नदी निकल रही है। कादरगंज के तमाम किसान रामगंगा नदी के खादर में पहलेज की फसल उगाते हैं। उनकी पहलेज की फसल पूरी तरह से तैयार हो  गई थी। दो दिन से रामगंगा नदी में जलस्तर बढ़ना शुरू हुआ। जिसके बाद किसानों में बेचैनी बढ़ गई। रविवार की रात रामगंगा नदी में जल स्तर बढ़ने के बाद फसल पूरी तरह से चौपट हो गई। इसके बाद किसानों में हाहाकार मच गया। अपनी फसल को तबाह होते देख किसान रात भर बेचैन रहे। उन्होंने तहसील प्रशासन को सूचना देकर मुआवजे की मांग की। कादरगंज गांव के ओमकार,रामदास,रामदीन आदि ने बताया की मेहनत की कमाई लगाकर पहलेज की फसल तैयार की थी। रामगंगा नदी में बाढ़ आने से फसल तबाह हो गई है। कई किसानों ने फसल तैयार करने के लिए आढ़तियों से ब्याज पर रकम ली है। फसल तबाह होने के बाद किसानों में बेचैनी है। तहसीलदार विनोद चौधरी ने बताया कि राजस्व टीम को क्षति का आकलन करने के लिए भेजा गया है। किसानों को क्षति के आकलन रिपोर्ट आने के बाद मुआवजे की कार्रवाई की जाएगी।

संबंधित खबरें