High Court bans on strike against Oyo - ओयो के खिलाफ हड़ताल पर हाईकोर्ट की रोक DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओयो के खिलाफ हड़ताल पर हाईकोर्ट की रोक

ओयो के खिलाफ हड़ताल पर हाईकोर्ट की रोक

दिल्ली हाईकोर्ट ने ओयो के खिलाफ होने वाली हड़ताल पर होटल एसोसिएशन को आड़े हाथों लिया है। होटल चेन ओयो ने हड़ताल के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। कोर्ट ने हड़ताल पर रोक लगा दी है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने होटेलियर वेलफेयर एसोसिएशन और उनके पदाधिकारियों के लिए निषेधाज्ञा जारी की है। कोर्ट का कहना है कि एसोसिएशन ओयो के पार्टनर होटलों को अनुबंध तोड़ने और ओयो की बुकिंग मना करने को मजबूर नहीं कर सकती है। अनुबंध के बाद किसी को भी कंपनी के व्यापार संचालन में बाधा डालने का हक नहीं दिया जा सकता है। ओयो का कहना है कि यदि इसके बाद भी कोई अनुबंध तोड़कर हड़ताल करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ओयो का कहना है कि बरेली, बड़ोदरा आदि जगहों के कई होटल संचालकों का कहना है कि हमें जबरन हड़ताल में शामिल किया जा रहा है। जबकि ओयो के साथ हमारे व्यापार में इजाफा हुआ है। 2013 में शुरू हुई ओयो होटल्स एंड होम्स दुनिया की छठी सबसे बड़ी होटल, होम, मैनेज्ड लिविंग और वर्कप्लेस की चेन है। इसके तहत देश भर में 23 हजार से ज्यादा होटल और 46 हजार से ज्यादा वैकेशन होम हैं।

हड़ताल से नहीं हटेंगे पीछे : उधर, होटेलियर वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अनुराग सक्सेना ने कहा कि हम लोग हड़ताल से पीछे नहीं हटेंगे। हाईकोर्ट के आदेश की हमको कोई जानकारी नहीं है। हम लोग किसी को जबरन हड़ताल में शामिल नहीं कर रहे हैं। शुक्रवार को सुबह 10 बजे वित्त मंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्टे्रट को सौंपा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:High Court bans on strike against Oyo