Four lakhs of fugitive from the son of the military on the name of the job - नौकरी के नाम पर फौजी के बेटे से चार लाख की ठगी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौकरी के नाम पर फौजी के बेटे से चार लाख की ठगी

नौकरी के नाम पर फौजी के बेटे से चार लाख की ठगी

पीडब्ल्यूडी में जेई की नौकरी लगवाने के नाम पर एक धोखेबाज ने रेस्टोरेंट के मैनेजर से चार लाख रुपये ठग लिये। मैनेजर ने बहन की शादी के लिये रखे रुपये धोखेबाज को दे दिये। 15 अप्रैल तक जब नौकरी नहीं लगी तो उसने रुपयों की मांग की। जिस पर धोखेबाज ने मिलना जुलना बंद कर दिया। मामले की शिकायत एसएसपी आफिस और कोतवाली में की गई। चौकी इंचार्ज चौकी चौराहा को मामले की जांच दी गई है।

सुभाषनगर में नेकपुर नई बस्ती के रहने वाले नरेश कुमार जेएलए (जूनियर लीडर एकेडमी) में तैनात हैं। उनका बेटा शिवम सर्किट हाउस चौराहे के पास एक रेस्टोरेंट में मैनजर है। रेस्टोरेंट में बिहारीपुर के रहने वाले एक मियां खाना खाने आते थे। उनसे युवक की जान पहचान हो गई। मियां ने कहा कि उनकी पीडब्ल्यूडी में काफी जान पहचान है। वह युवक को पीडब्ल्यूडी में जेई बनवा देंगे। युवक मियां के झांसे में आ गया। मियां ने उससे 50-50 हजार के दो मोबाइल एक बटलर से और दूसरा एमसीआई प्लाजा से खरीदा। बहन की शादी के खर्च के लिये बैंक खाते में पड़े रुपये पेटीएम के जरिये निकालकर ठग को देता रहा। शिवम ने 27 जनवरी से लेकर दस अप्रैल तक 4,11500 रुपये दे दिये। मियां ने कहा कि 15 अप्रैल तक वह नौकरी लगवा देगा। 15 अप्रैल निकलने के बाद आरोपी मियां ने बातचीत बंद कर दी। ठगी में एमसीआई प्लाजा का एक कारोबारी, लाल फाटक का रहने वाला युवक की भूमिका भी संदिग्ध है। फौजी नरेश के साथ पहुंचे शिवम ने मामले में मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Four lakhs of fugitive from the son of the military on the name of the job