ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशनशीली दवा कारोबारी का स्मैक तस्करों से खंगाला जा रहा कनेक्शन

नशीली दवा कारोबारी का स्मैक तस्करों से खंगाला जा रहा कनेक्शन

तीन करोड़ की नशीली दवाओं का जखीरा बरामद होने से हड़कंप मचा हुआ है। इस कारोबार की कमर तोड़ने के लिए पुलिस पकड़े दवा कारोबारी का स्मैक तस्करों से...

नशीली दवा कारोबारी का स्मैक तस्करों से खंगाला जा रहा कनेक्शन
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीThu, 22 Feb 2024 02:45 AM
ऐप पर पढ़ें

तीन करोड़ की नशीली दवाओं का जखीरा बरामद होने से हड़कंप मचा हुआ है। इस कारोबार की कमर तोड़ने के लिए पुलिस पकड़े दवा कारोबारी का स्मैक तस्करों से कनेक्शन खंगाल रही है। क्योंकि, इनमें से कुछ दवाएं नशा बढ़ाने के लिए स्मैक में भी मिलाई जाती हैं।
एंटी नारकोटिक्स टास्क फोर्स (एएनटीएफ) की टीम ने मंगलवार रात किला मेडिकल स्टोर के संचालक सीबीगंज के गांव महेशपुर निवासी मुन्ने को गिरफ्तार किया था। उसके भाई बबलू उर्फ कमर गनी को पुलिस अभी तलाश कर रही है। मुन्ने की निशानदेही पर पुलिस ने उसके गोदाम से नशीली दवाओं का जखीरा बरामद किया। इसमें ट्रामाडॉल युक्त एक लाख नौ हजार 584 कैप्सूल, अल्प्राजोलाम युक्त दो लाख 20 हजार 200 टैबलेट, 23 हजार 276 बोतल कोडीन फास्फेट युक्त सीरप, नाइट्राजीपाम युक्त 1800 टैबलेट शामिल हैं। बाजार में इन नशीली दवाओं की कीमत करीब तीन करोड़ रुपए है। सीबीगंज इंस्पेक्टर राधेश्याम का कहना है कि आरोपियों के संपर्कों की पड़ताल की जा रही है ताकि इस नेक्सस को तोड़ा जा सके।

-

खंगाली जा रही आरोपी की काल डिटेल

पुलिस के मुताबिक अल्प्राजोलाम और नाइट्राजीपाम काफी नशीली दवाएं हैं। स्मैक तस्कर नशा बढ़ाने के लिए कई बार इन दवाओं को पीसकर स्मैक में मिला देते हैं। इससे जहां स्मैक का नशा बढ़ जाता है, वहीं मुनाफा भी बढ़ जाता है। इसको देखते हुए सीबीगंज पुलिस आरोपियों के मोबाइल की काल डिटेल के जरिए स्मैक तस्करों से कनेक्शन जांच रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें