DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वास्थ्य मंत्री के जाते ही बदहाल हुआ जिला अस्पताल

स्वास्थ्य मंत्री के जाते ही बदहाल हुआ जिला अस्पताल

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह के जाते ही जिला अस्पताल अपनी पुरानी बदहाल हालत में वापस आ गया। एक दिन पहले ही अस्पताल चमक रहा था और ओपीडी से लेकर इमरजेंसी तक पर्याप्त सुविधाएं दिख रही थी। लेकिन बुधवार की सुबह अस्पताल पुरानी सूरत में नजर आया। ओपीडी में डॉक्टर नहीं थे और मरीजों की लंबी लाइन लगी हुई थी। कोई भी मरीजों को यह बताने वाला नहीं था कि डॉक्टर आएंगे या नहीं। परेशान मरीज इलाज के लिए ओपीडी में भटकते रहे।

स्वास्थ्य मंत्री के आने पर जो गमले और कूड़ेदान रखे गए थे, बुधवार की सुबह वह भी गायब दिखे। उसकी जगह कूड़े का ढेर और गंदगी नजर आई। इमरजेंसी वार्ड में भी सफाई नहीं दिखी।कल स्वास्थ्य मंत्री के आने पर जो साफ चादर बिछाई गई थी आज वही गंदी दिखी। बच्चा वार्ड के बाहर सीवर का पानी बजबजा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने इसे साफ करने का निर्देश दिया था। बुखार से पीड़ित लोग ओपीडी में सुबह 8 बजे से ही डॉक्टर का इंतजार करते रहे लेकिन 11 बजने के बाद भी कई डॉक्टर ओपीडी में नहीं आए। बुखार की वजह से अस्पताल में खासी भीड़ रही। पर्चा काउंटर पर 7:30 बजे सुबह से ही लोग आ गए थे। मरीजों का कहना था कि स्टाफ में कोई भी यह बताने को तैयार नहीं है कि डॉक्टर कब आएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:District Hospital as soon as the Health Minister goes