DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  ऐसा घटिया किया काम की नौकरी पर बन आई

बरेलीऐसा घटिया किया काम की नौकरी पर बन आई

हिन्दुस्तान टीम,बरेलीPublished By: Newswrap
Fri, 25 Sep 2020 03:16 AM
श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
1 / 4श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
2 / 4श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
3 / 4श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...
4 / 4श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क...

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना में चल रहे निर्माण कार्यों की जांच करने आए अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार गांवों में गड़बड़ियों का पिटारा देखकर भड़क गए। उन्होंने गांवों में बिना योजना बनाए काम करने पर अफसरों को फटकार लगाई और सुधरने की हिदायत दी। ओवरहेड टैंक से पेयजल सप्लाई के लिए बनाई गई टंकियों को देखकर वह जल निगम व मनरेगा के अफसरों पर बिगड़ गए। उन्होंने अफसरों से पूछा, तुम अपने घर में भी ऐसे ही काम करते हो। कोई जवाब न मिलने पर हिदायत दी कि अगर शासन की प्राथमिकता वाले कामों में ढिलाई और मनमानी की तो नौकरी करना भूल जाओगे।

20 सितंबर को मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक के दौरान बिथरी विधायक पप्पू भरतौल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन में चुने गए गांवों में मनमाने ढंग से काम कराए जाने की शिकायत की। उन्होंने कहा गांवों के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं। सरकारी अमला विकास कार्यों के नाम पर पैसे की बर्बादी कर रहा है। विधायक की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने जांच टीम भेजने भरोसा दिलाया था। गुरुवार को शासन ने अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार को बरेली भेजा। दोपहर करीब तीन बजे अपर आयुक्त प्रशासन की टीम के साथ बिथरी के गांव फरीदापुर इनायत खां पहुंचे। उनके साथ बिथरी विधायक पप्पू भरतौल भी थे। उन्होंने सबसे पहले गांव में बन रहे रिक्शा स्टैंड का फर्श देखा। जरा सी खुदाई करने पर फर्श टूट गया। उसके अंदर रोड़ा भी नहीं मिला। अपर आयुक्त ने टीएसी ने फर्श की निर्माण सामग्री का सैंपल लेने को कहा। इसके बाद उन्होंने गांव में लोगों को साफ पानी उपलब्ध कराने के लिए लगे आरओ प्लांट और उसकी टंकियों को देखा। टंकी काफी दूर थी। उसकी ऊंचाई काफी अधिक थी और उसमें से पानी भी टपक रहा था। इस पर वह काम कराने वाले जेई पर जमकर नाराज हुए। पूछा कि इतने ऊंचे नल पर बच्चे पानी कैसे पियेंगे। अफसरों को कोई जवाब नहीं सूझा। उन्होंने ग्राम पंचायत सचिव से पूछा कि निधि में कितना पैसा है। जवाब मिला 2.90 लाख। इस पर वह फिर नाराज हुए और कहा कि इतने पैसे होने के बावजूद एक नल की लीकेज ठीक नहीं करा सकते। गांव में ओवरहेड टैंक के पास लगी सोलर लाइट में भी खराबी मिली।

संबंधित खबरें