DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑटोलिफ्टर गैंग का पर्दाफाश, 15 चोरी की बाइकें बरामद

निघासन पुलिस में एक ऑटोलिफ्टर गैंग का पर्दाफाश किया है, इस गैंग के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। उनके पास से 15 चोरी की बाइक बरामद हुई हैं। जबकि इस गैंग के तीन ऑटोलिफ्टर भागने में सफल रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। बरामद की गई बाइकें लखीमपुर समेत आसपास के जिलों से चुराई गई है। पुलिस ने आटोलिफ्टरों को जेल भेज दिया है। खुलासा करने वाली टीम को एसपी ने पांच हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

निघासन पुलिस ने बुधवार की रात अपने क्षेत्र में वाहन चेकिंग अभियान चला रही थी। तभी पुलिस को सूचना मिली थी कि गजियापुर बाजार के पास आधा दर्जन संदिग्ध युवक खड़े हैं। सूचना पाकर पुलिस ने घेराबंदी की। छह आटोलिफ्टरों को औघड़ बाबा मंदिर के पास गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से तीन बाइके बरामद हुई। पूछताछ में पता चला ये तीनों बाइकें चोरी की हैं। पकड़े गए आटोलिफ्टरों की पहचान विपिन मौर्य निवासी गौरिया थाना निघासन, शाहिद अली निवासी ढखेरवा नानकार थाना निघासन, अनीस निवासी ढखेरवा नानकार थाना निघासन, साबिर निवासी ढखेरवा नानकार थाना निघासन, मोइनुद्दीन निवासी बड़ागांव कोतवाली सदर, श्रवण कुमार पांडे निवासी बिछुली थाना निघासन के रूप में हुई है। पकड़ा गया गैंग अब तक दर्जनों बाइकें चुरा चुका हैं, इनकी निशानदेही पर निघासन पुलिस ने 12 और चोरी की बाइकें बरामद की हैं। पुलिस ने बरामद की गई बाइकों में से 10 बाइकों के मालिकों का पता लगा लिया है। ये बाइकें लखीमपुर शहर से चुराई गई हैं। पकड़े गए ऑटोलिफ्टर गैंग के तीन साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए हैं। उनकी पहचान प्रीतम सिंह निवासी नानकपुर थाना तिकुनिया, मोहन जायसवाल निवासी कफारा थाना धौरहरा, विवेक ठाकुर निवासी कफारा थाना धौरहरा के रूप में हुई है। इस गैंग को पकड़ने में इंस्पेक्टर निघासन जयकरण सिंह, दरोगा विपिन कुमार यादव, सिपाही राम सजीवन सरोज, अखिलेश यादव, अरविंद यादव, मोहम्मद साहब, राहुल कुमार और चौकी इंचार्ज पढ़ुआ राहुल कुमार का विशेष योगदान रहा है। एसपी डॉ. एस चनप्पा ने पूरी टीम को पांच हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:autolifter gang captured in kheri