ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशढाई साल पुराने मामले में कोटेदार को फंसाने की कोशिश

ढाई साल पुराने मामले में कोटेदार को फंसाने की कोशिश

आंवला थानाक्षेत्र के गांव रहटुईया की एक महिला के द्वारा दो बेटियों से गैंगरेप और अपहरण की शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय और डीजीपी पुलिस को टयूट करके...

ढाई साल पुराने मामले में कोटेदार को फंसाने की कोशिश
हिन्दुस्तान टीम,बरेलीMon, 04 Dec 2023 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

आंवला थानाक्षेत्र के गांव रहटुईया की एक महिला के द्वारा दो बेटियों से गैंगरेप और अपहरण की शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय और डीजीपी पुलिस को टयूट करके किए जाने के बाद पुलिस महकमें में हड़कम्प मचा हुआ है। शिकायतकर्ता मंदबुद्वि है और ट्रेनों में भीख मांगती है। प्राथमिक जांच में पाया गया कि गांव के कोटेदार को फंसाने के लिए महिला का इस्तेमाल किया गया, किशोरियों के गायब करने के आरोप में दो लोगों के खिलाफ मुकद्मा दर्ज किया गया है।
गांव रहटुईया की रीना देवी ने शिकायत की कि उसकी दो पुत्रियों को कोटेदार अपनी ससुराल ग्राम प्रहलादपुर थाना मूसाझाग से गया और दोनों को बेच दिया। वहां उसके तथा उसकी बेटियों के साथ गैंगरेप और मारपीट की गई। उसे गाड़ी में ले गए और रास्ते में उसे जंगल में गड्ढे में फेंक दिया। वह मरणासन अवस्था में रहटुईया आयी है। कोटेदार पर राशनकार्ड फाड़ने और मारपीट का भी आरोप लगाया है। पुलिस रातभर इस शिकायत की जांच में दौड़ती रही, दर्जनों ग्रामीणों से पूछताछ की गई, कोटेदार और उसके बेटे सहित चार लोगों को हिरासत में लिया गया है।

कोतवाल राजकुमार शर्मा ने बताया कि रीना बिहार की है और भीख मांगती है, वह 15 साल पहले रहटुईया के नन्हे के साथ आकर रहने लगी, उसके साथ उस समय चार की बेटी थी। पांच साल पहले नन्हे की मौत हो गई, तो फिर से ट्रेनों में भीख मांगने लगी, उस समय उसके पास दूसरी 12 साल की बेटी और दो साल को बेटा धर्मेन्द्र था। प्रहलादपुर थाना मूसाझाग बदायूं के वीरेन्द्र की रिश्तेदारी रहटुईया गांव में हैं, उसकी पत्नी कुसुमा की मौत हो चुकी है और पांच बच्चें हैं। उसने रीना को बतौर पत्नी अपने पास रख लिया और उसके तीनेां बच्चे भी उसके अन्य बच्चों के साथ पलने लगे। ढाई साल पहले रीना वापस लौट आई, लेकिन बड़ी बेटी वीरेन्द्र के पास रही, जिसकी शादी उसने गांव मुल्लापुर थाना बिनावर के महावीर से कर दी। छह माह उसने बड़ी लड़की को अपने साथ रखा। अब महावीर का कहना है कि वीरेन्द्र अपनी बेटी को वापस ले गया, जबकि वीरेन्द्र इंकार कर रहा है। सवाल यह है कि आखिर रीना की बड़ी और छोटी बेटी आखिर कहां है।

उन्होनें बताया कि रीना अपने छोटे बेटे धर्मेन्द्र के साथ पांच दिन पहले रहटुईया आई थी, एक युवक उसे लेकर थाने दरोगा के पास भी आया था और शिकायतपत्र देकर चला गया और बाद में टयूट करा दिया। प्रारम्भिक जांच में पाया गया कि कोटेदार का इस मामले से कोई लेना देना नही है, दोनों लड़कियों का कोई सुराग नही लगा है, इसलिए उन्हे गायब करने में वीरेन्द्र और महावीर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। रीना के शरीर पर भी चोटों के भी कोई निशान नही हैं, पहले भी वर्ष 2018 में उसने बड़ी बेटी से छेड़छाड़ में सतपाल और 2019 में उसे भगा ले जाने में सरताज के खिलाफ शिकायत की थी। पुलिस महिला के साथ शिकायत कराने आए युवक की तलाश में जुटी हुई है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें