DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बवाल के बाद हिन्दू-मुस्लिमों ने एक-दूसरे के गले लगकर मिटाए गिले-शिकवे

बवाल के बाद हिन्दू-मुस्लिमों ने एक-दूसरे के गले लगकर मिटाए गिले-शिकवे

होली के रंग में बाहरी लोगों ने शहर का अमन-चैन बिगाड़ने की कोशिश की थी। शनिवार को हिन्दू-मुसलमानों ने अमन का पैगाम देते हुए एक-दूसरे से गले मिले। मोहल्ले के लोगों ने होली के राम बारात में हुई घटना पर अफसोस जाहिर किया। हिन्दू-मुस्लिम ने मिलजुल कर साथ रहने का समझौता किया है। यह समझौता नामा इसलिए तैयार किया गया ताकि पुलिस किसी भी समुदाय के खिलाफ कोई कार्रवाई न करे।

23 मार्च की दोपहर को साहूगोपीनाथ स्कूल के सामने मुर्गे वाली गली में राम बारात में पत्थराव हुआ था। इस मामले में शहर का अमन बिगाड़ने की कोशिश भी की गई थी। शनिवार को मोहल्ले में हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के प्रमुख लोगों ने बैठक कर मिलजुल कर साथ रहने का वादा किया। मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने बताया कि बैठक में यह फैसला लिया गया कि होली वाले दिन बाहरी लोगों ने मोहल्ले में आकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की थी। मोहल्ले के कोई भी शख्स इस घटना में शामिल नहीं है। लिहाजा दोनों पक्ष के लोगों ने समझौता नामा तैयार किया।

समझौता नामा पर हस्ताक्षर भी किए हैं। यह समझौता इसलिए किया गया है ताकि पुलिस किसी भी समुदाय के खिलाफ कार्रवाई न करे। मोहल्ले के हिन्दू-मुस्लिम परिवार एक साथ अमन के साथ रह रहे हैं। समझौता नामा में राकेश राणा, मो. युसूफ, रोशन लाल, मो. सलीम, ओम बाबू, शाहिद खां, जय प्रकाश राजपूत, मो. असलम, राजीव कनौजिया, मो.यामीन सहित दोनों पक्ष के 11-11 लोगों ने साइन किए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the wild