DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बरेली को दो साल से नहीं मिली जिप्सम, किसान परेशान

सरकारी मशीनरी की हीलाहवाली ने किसानों की मुश्किल बढ़ा दी है। दो साल से बरेली के किसानों को कृषि विभाग जिप्सम मुहैया नहीं करा सका। किसान लगातार अफसरों से इसकी मांग कर रहे हैं। जिप्सम न मिलने से जहां पैदावार में कमी आ आई है वहीं, किसानों को निजी दुकानों का सहारा लेना पड़ रहा है। जिप्सम को किसान भूमि सुधारक के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। कृषि विभाग किसानों को अपने सेंटरों से जिप्सम मुहैया कराता था। खरीफ और रबी की फसल से पहले खेत तैयार करते वक्त किसान जिप्सम का इस्तेमाल करते थे। जिससे उसर जमीन में पोषक तत्वों की पूर्ति हो सके। लेकिन दो साल से किसानों को कृषि विभाग जिप्सम नहीं दे पा रहा। हालांकि कृषि विभाग के अधिकारी हर साल भूमि सुधार निगम लिमिटेड को जिप्सम की मांग जरूर भेज रहे हैं। भूमि सुधार निगम यूपी एग्रो के जरिए जिप्सम की आपूर्ति करता था। लेकिन दो साल से यूपी एग्रो ने जिप्सम नहीं भेजी। कृषि अधिकारी की सुनिए जिला कृषि अधिकारी रामतेज यादव ने बताया कि हर साल जिप्सम की मांग भेजी जा रही है। दो साल से यूपी एग्रो ने जिप्सम नहीं भेजी। इससे किसानों को दिक्कत हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bareilly does not get gypsum for two years; farmers worry