DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  बाराबंकी  ›  बाराबंकी-अनलॉक होने पर एनईआर में बढ़ी चार ट्रेनें
बाराबंकी

बाराबंकी-अनलॉक होने पर एनईआर में बढ़ी चार ट्रेनें

हिन्दुस्तान टीम,बाराबंकीPublished By: Newswrap
Sun, 13 Jun 2021 08:30 PM
बाराबंकी-अनलॉक होने पर एनईआर में बढ़ी चार ट्रेनें

आरक्षण निरस्त होने में आई कमी

धीमी रफ्तार से बढ़ रहे हैं यात्री

बाराबंकी। कोरोना संक्रमण नियंत्रण के बाद भी रेलवे फूंक-फूंक कर कदम रहा है। कोरोना कफ्र्यू हटने के बाद रेलवे ने चार ट्रेनों का संचालन शुरू किया है। लेकिन यात्रियों की संख्या सुस्त रफ्तार से बढ़ रही है। हालांकि आरक्षण निरस्त कराने के मामले में कमी आई है।

बढ़ी चार ट्रेनें: कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए सीमित ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था। कोरोना कफ्र्यू के दौरान एनआर में फरक्का एक्सप्रेस, दून एक्सप्रेस, फिरोजपुर धनबाद एक्सप्रेस, साबरमती एक्सप्रेस, मरुधर एक्सप्रेस, कैफियात एक्सप्रेस व सरयू यमुना एक्सप्रेस का संचालन होता था। अप और डाउन में मिलाकर 14 ट्रेने संचालित होती थी। एनईआर लाइन पर बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस, कोचीन एक्सप्रेस, गोरखपुर कुर्ला एक्सप्रेस, कुशीनगर एक्सप्रेस, गोरखपुर कुर्ला स्पेशल एक्सप्रेस, गोरखधाम एक्सप्रेस, गुवाहाटी एक्सप्रेस, शहीद एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा था। दोनों ही रूटों पर अप व डाउन में तीस ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था। कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी आई तो रेलवे ने यात्री सुविधा को देखते हुए ट्रेनों का संचालन बढ़ाया बै। बुधवार को एनआर रूट पर अप व डाउन में सियाल्दह एक्सप्रेस चलाई गई। इसके बाद रेलवे ने चार और ट्रेनें बढ़ाई हैं। इसमें अप व डाउन में गोरखपुर लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस व लखनऊ बरौनी एक्सप्रेस शामिल हैं।

बढ़े हैं रेल यात्री: ट्रेनों का संचालन बढ़ाए जाने से यात्रियों की संख्या भी सुस्त रफ्तार से बढ़ने लगी है। कोरोना कफ्र्यू के दौरान औसतन 90 यात्रियों का आरक्षण हो पाता था। लेकिन कोरोना संक्रमण कम होने और अन्य प्रांतों में शहरों को अनलॉक किए जाने के बाद से यात्रियों संख्या बढ़ने लगी है। एक जून के बाद से लगातार सूस्त रफ्तार से यात्री बढ़ रहे हैं। रेलवे के आरक्षण डिपार्टमार्टम के अनुसार पिछले तीन चार दिनों में आरक्षण की संख्या में मामूली बढ़ोतरी दर्ज हुई है। पिछले तीन दिनों में औसतन 126 यात्रियों ने अपना आरक्षण कराया है।

दिल्ली, मुम्बई जानेवाली ट्रेनों में आरक्षण फुल: कोरोना संक्रमण कम होने के बाद दिल्ली, मुम्बई, सूरत, अहमदबाद आदि प्रांतों व जिलों को जाने वाली ट्रेनों में आरक्षण कैंसिलेंशन में कमी आई है। जिसके चलते ट्रेनों में भीड़ बढ़ने लगी है। इन जिलों व प्रांतों के लिए जाने वाली ट्रेनों में 30 जून तक कोई सीट खाली नही हैं। कुछ ट्रेनों में जुलाई के पहले सप्ताह तक सीटें फुल हैं। जिससे आरक्षण नहीं हो पा रहा है।

संबंधित खबरें