DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बाराबंकीबाराबंकी-दुकान मालिक की प्रताड़ना से परेशान किशोर ने फांसी लगा दी जान

बाराबंकी-दुकान मालिक की प्रताड़ना से परेशान किशोर ने फांसी लगा दी जान

हिन्दुस्तान टीम,बाराबंकीNewswrap
Sat, 03 Jul 2021 08:30 PM
बाराबंकी-दुकान मालिक की प्रताड़ना से परेशान किशोर ने फांसी लगा दी जान

दुकान मालिक की प्रताड़ना से परेशान किशोर ने फांसी लगा दी जान

शनिवार की सुबह रेवतीपुरवा के पास पेड़ पर लटका मिला शव

घटना स्थल पर जुटी भीड़, कराया गया पोस्टमार्टम

जैदपुर। दुकान से पैसा चोरी किए जाने के शक पर दुकानदार द्वारा प्रताड़ित किशोर ने रेवतीपुरवा गांव के पास पेड़ पर अंगौछा से फांसी लगा कर किशोर ने आत्महत्या कर ली। शनिवार की सुबह लोगों ने किशोर का शव देखा तो हतप्रभ रह गए। मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। घटना के बाद से दुकानदार फरार है। परिजनों व ग्रामीणों ने आरोपी दुकानदार की गिरफ्तारी व पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता दिलाए जाने की मांग की।

गांव के बाहर पेड़ पर लटका था शव: जैदपुर थाना क्षेत्र के गांव रेवतीपुरवा के पास ग्रामीण सुबह निकले तो गांव के बाहर पेड़ पर अंगौछा से विकास उर्फ सचिन (16) पुत्र मनोज का शव देखा तो हतप्रभ रह गए। घटना स्थल पर लोगों की भीड़ जुट गई। रोते बिलखते परिजन भी वहां पहुंच गए। पुलिस ने शव को फंदे से उतरवा कर पोस्टमार्टम कराया।

चोरी को लेकर प्रताड़ित कर रहा था दुकानदार: रोते बिलखते परिजनों ने बताया कि विकास ग्राम भिटौरा लखन निवासी जितेन्द्र की नवाबपुर पुलिया के पास किराना की दुकान है। विकास इसी दुकान पर काम करता था। परिजनों ने बताया कि दो दिन पूर्व दुकान मालिक जितेंद्र ने विकास पर गल्ले से 1700 रुपये चोरी का आरोप लगाते हुए उसे पूछताछ की। विकास ने चोरी से इंकार कर किया तो दुकान मालिक जितेंद्र ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। शुक्रवार को विकास मोबाइल खरीदने के लिए मेन्था का तेल बेच कर पांच हजार रुपये लेकर दुकान पहुंचा था। जितेंद्र ने फिर उस पर गल्ला से चोरी हुए रुपयों के विषय में पूछताछ की। विकास के इन्कार करने पर जितेंद्र उसे ताने देने लगा। शाम को जब विकास ने घर जाने के लिए कहा तो दुकानदार जितेंद्र ने उसे रोक लिया और उसकी जेब मे रखे पांच हजार रुपये निकाल लिए। देर रात ग्यारह बजे घर जाने के लिए छुट्टी दी। परिजनों का आरोप है कि जितेंद्र ने विकास की पिटाई भी की थी। घर आने के बाद विकास काफी उदास व डरा हुआ था। उसके अपने एक साथी से दुकान मालिक द्वारा चोरी का आरोप लगाने की बात भी कही। सुबह उसने गांव के किनारे स्थित बाग में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। घटना के बाद से दुकान मालिक जितेंद्र घर से फरार हो गया। मृतक के पिता ने दुकान मालिक द्वारा प्रताड़ित किये जाने की तहरीर दी।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें