DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बाराबंकी › बाराबंकी-फूड प्वायजनिंग सात बच्चों समेत 11 बीमार, भर्ती
बाराबंकी

बाराबंकी-फूड प्वायजनिंग सात बच्चों समेत 11 बीमार, भर्ती

हिन्दुस्तान टीम,बाराबंकीPublished By: Newswrap
Sat, 25 Sep 2021 05:30 PM
बाराबंकी-फूड प्वायजनिंग सात बच्चों समेत 11 बीमार, भर्ती

मछली चावल खाने से देर रात से बिगड़ने लगी हालत

असंद्रा थाना क्षेत्र के तेलैया गांव के हैं सभी पीड़ि़त

बाराबंकी। बासी मछली चावल खाने से एक ही गांव के 11 लोग फूड पॉयजनिंग के शिकार हो गए। शुक्रवार की रात उल्टी दस्त के बाद तबीयत बिगड़ने पर एक के एक मरीजों की हालत नाजुक होने लगी। परिजनों ने सभी को जिला अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती कराया। जहां उनका इलाज चल रहा है। इसमें नौ बच्चे शामिल हैं।

असंद्रा थाना क्षेत्र के तेलैया गांव में भट्ठा मजदूर रहते हैं। मूलरूप से यह लोग बिहार के निवासी हैं। पीड़ित आनंदी ने बताया कि शुक्रवार की भोर बासी मछली चावल खाने से तीन परिवार के नौ बच्चे और दो युवक समेत 11 लोग बीमार पड़ गए। उल्टी दस्त के साथ बच्चे बेहोश होने लगे। आनन फानन सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। फूड पॉयजनिंग का शिकार हुए बौरा (6), गनेश (45), रामू (25), सलोनी (3), ऐश्वर्य (12), टिंकू (2), राजा (4), इंशी (17), सोमवीर (6), आशिक (3), सूरज (3) शामिल हैं। तीमारदार आनंदी ने बताया कि गुरुवार की शाम मछली चावल बना था। सुबह परिवार के चार बच्चों ने खाया था। वहीं मोहल्ले में लगे एक हैंडपंप का पानी भी पिया था। उसके बाद शुक्रवार की देर शाम से एक के बाद एक की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी तो गांव में ही दवा दिलाई गई। उसके बाद भी हालत में सुधार होने के बजाए तबीयत बिगड़ने लगी। उल्टी दस्त के बाद बच्चे बेहोश होने लगे। जिन्हें आनन फानन इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। अब राहत लग रही है। ड्यूटी पर तैनात डॉ. वीरेंद्र सिंह ने बताया कि एक ही गांव के 11 लोग फूड पॉयजनिंग का शिकार होकर आए थे। फूड पॉयजनिंग का कारण परिवार वाले कुछ स्पष्ट नहीं बता पा रहे हैं। सभी को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है।

सीएमओ ने किया इमरजेंसी का निरीक्षण: फूड पायजनिंग का शिकार होकर पहुंचे 11 लोगों के इलाज की सुविधाएं परखने सीएमओ डॉ. रामजी वर्मा पहुंचे। सीएमओ ने बताया कि अस्पताल पहुंचते ही सीएमएस डॉ. बृजेश कुमार ने ईएमओ को निर्देशित कर सभी को भर्ती कराया। सभी पीड़ित अस्पताल में भर्ती मिले। उक्त रोगियो को प्रदान किये जाने वाले आवश्यक उपचार, औषधि इत्यादि की स्थिति संतोषजन मिली। उनके स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है। सीएमाअे ने चिकित्सालय परिसर का भी सघन निरीक्षण किया। जिसमे ट्रामा सेंटर, इमरजेंसी वार्ड, डेगू वार्ड, पिडिआट्रिक डेगू वार्ड, आर्थो वार्ड, सर्जिकल वार्ड का निरीक्षण भी किया।

संबंधित खबरें