Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश बाराबंकीबाराबंकी-1150 कर्मचारियों ने काला फीता बांध जताया विरोध

बाराबंकी-1150 कर्मचारियों ने काला फीता बांध जताया विरोध

हिन्दुस्तान टीम,बाराबंकीNewswrap
Tue, 25 May 2021 07:00 PM
बाराबंकी-1150 कर्मचारियों ने काला फीता बांध जताया विरोध

मुख्यालय और सीएचसी व पीएचसी पर फूटा आक्रोश

शासन के जारी आदेशों की प्रतियां फूंक की नारेबाजी

बाराबंकी। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रान्तीय नेतृत्व के आह्वान पर स्वास्थ्य विभाग के करीब 1150 कर्मचारियों ने कार्य के दौरान काला फीता बांधकर विरोध प्रकट किया। यही नहीं सभी ने बीते 6 मई शासन द्वारा जारी शासनादेश की प्रतियां जलाई। कर्मचारियों ने कहा कि अगर मांगे पूरी नहीं की जाएंगी तो कर्मचारी अनिश्चित कालीन हड़ताल करने को बाध्य होंगे।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जनपद शाखा बाराबंकी के जिला मंत्री डॉ. आरपी सिंह विसेन ने बताया कि मंगलवार को कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी अपनी जान की बाजी लगाकर कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कोरोना से लड़ रहे सभी कर्मचारियों को प्रोत्साहन स्वरूप 25 प्रतिशत राशि देने की घोषणा की थी। परन्तु जारी शासनादेश में कुछ संवगोंर् जैसे कि फार्मेसिस्ट, एक्सरे टेक्नीशियन आदि का नाम सूची में शामिल ही नहीं है। जारी शासनादेश की मंशा के अनुरुप नहीं है। जो कर्मचारी इमरजेंसी या अन्य चिकित्सा सम्बन्धी कार्य कर रहे हैं उन्हें भी संक्रमण का खतरा बना रहता है। अत: इन कर्मचारियों का नाम जारी प्रोत्साहन सूची में शामिल न होना उनके साथ अन्याय है। डॉ. आरपी सिंह विसेन ने बताया कि जारी सूची में बाराबंकी का नाम शामिल ही नहीं है।

परिषद के अध्यक्ष आरपी सिंह तथा कोषाध्यक्ष डॉ. धमेंर्द्र कुमार सिंह ने मांग की कोरोना योद्घा कर्मचारियों के परिजनों का वैक्सीनेशन प्राथमिकता के आधार पर कराया जाये। जिला चिकित्सालय में सम्पन्न कार्यक्रम में महेंद्र कुमार, आशीष यादव, एबी पाण्डेय, दीपक वर्मा, आरसी वर्मा, एमपी चौधरी, जय प्रकाश नायक, विनोद यादव, अनिल जायसवाल, अमरेन्द्र मिश्रा, सुरेन्द्र वर्मा, महिला चिकित्सालय की मैट्रन श्रीमती मिथिलेश कुमारी, उमेश कुमार वर्मा, सुशील कुमार आदि लोगों ने शासनादेश की प्रतियां जलाई और जमकर नारेबाजी की।

इनसेट

सीएचसी व पीएचसी पर भी दिखा आक्रोश

बाराबंकी। प्रोत्साहन राशि दिए जाने के मामले में दोहरी राजनीति के खिलाफ स्वास्थ्य कर्मचारियों का आक्रोश फूट पड़ा। जिला मुख्यालय के साथ ही सीएचसी सिरौलीगौसपुर, हैदरगढ़, बड़ागांव, रामनगर, देवा, फतेहपुर आदि स्थानों पर कर्मचारियों ने काला फीता बांध कर आदेशों की प्रतियां जलाई। यही नहीं सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बाराबंकी जिले का नाम भी सूची में शामिल करने की मांग की।

epaper

संबंधित खबरें