DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बांदा › लक्ष्य बढ़ा पर प्राप्ति में पीछे रह गया रजिस्ट्री विभाग
बांदा

लक्ष्य बढ़ा पर प्राप्ति में पीछे रह गया रजिस्ट्री विभाग

हिन्दुस्तान टीम,बांदाPublished By: Newswrap
Thu, 08 Jul 2021 05:31 AM
लक्ष्य बढ़ा पर प्राप्ति में पीछे रह गया रजिस्ट्री विभाग

बांदा। वरिष्ठ संवाददाता

कोरोना संक्रमण काल में हर सेक्टर प्रभावित हुआ है। रजिस्ट्री विभाग भी इससे अछूता नहीं रहा है। बीते वर्ष जून के मुकाबले इस बार लगभग आधा राजस्व ही विभाग को प्राप्त हुआ है।

इस साल रजिस्ट्री विभाग को 106 करोड़ राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य मिला है। तिमाही में विभाग को 31 करोड़ 72 लाख रुपए राजस्व प्राप्त हुआ। जोकि लक्ष्य का 29.74 प्रतिशत है। बीते वर्ष 98 करोड़ राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य था। तिमाही में 33 करोड़ 32 लाख राजस्व प्राप्त हुआ था। जोकि लक्ष्य प्राप्ति का 34 प्रतिशत था। इस बार जून का लक्ष्य 9 करोड़ 41 लाख था। सात करोड़ 82 लाख का राजस्व प्राप्त हुआ, जोकि लक्ष्य का 83 प्रतिशत था। बीते वर्ष जून में आठ करोड़ 60 लाख लक्ष्य था। 13 करोड़ 95 लाख राजस्व प्राप्त हुआ था, जोकि लक्ष्य का 162 प्रतिशत रहा।

सबसे ज्यादा सदर क्षेत्र में हुए बैनामे

वित्तीय वर्ष 2021 तक 6648 खेत और 8391 आवासीय भूमि की खरीद फरोख्त हुई। सदर तहसील में 2172 कृषि और 5870 आवासीय, बबेरू तहसील में 2148 कृषि और 629 आवासीय, अतर्रा में 1361 कृषि और 1097 आवासीय और नरैनी में 963 कृषि और 795 आवासीय जमीनों के बैनामे हुए।

एआईजी/ सब रजिस्ट्रार राकेश कुमार मिश्रा का कहना है कि कोरोना काल में बैनामों का काम नहीं रुका। लेकिन बीते वर्ष के मुकाबले रजिस्ट्रियां कम हुईं। इससे राजस्व प्राप्ति लक्ष्य के मुताबिक नहीं हो सका है। सबसे ज्यादा रजिस्ट्रियां महिलाओं के नाम पर हुईं।

संबंधित खबरें