DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिम्मेदारों की लाचारी बनी केन की बदहाली का कारण: सागर

जिम्मेदारों की लाचारी बनी केन की बदहाली का कारण: सागर

सामाजिक कार्यकर्ता आशीष सागर दीक्षित ने कहा कि केन नदी में लोहे की चकर प्लेट लगाकर वाहनों को गुजरा जा रहा है। ऐसे बिना प्रशासन की मदद के संभव नहीं है। इससे नदी की धारा अवरूद्व होती है। न जाने कौन सा किस चीज का दबाव है कि खनन माफिया की मनमानी पर कार्रवाई करने में बड़े-बड़े अफसर हिचक जाते है।

आशीष सागर ने कहा कि बांदा में केन नदी में अगले पांच सालों के लिए अवैध खनन बंद करा दिया जाए तो पानी संकट स्वत: हल हो जाएगा। नियम है कि नदी की जलधारा से 25 मीटर दूर खनन किया जाए लेकिन माफिया तो नदी की कोख ही उजाड़ दिया। सब्जी कारोबारियों पर शिकंजा कसने का मकसद समझ से परे है। ये खेती बारी तो इनकी पुश्तैनी है। ये तो नदी के रखवाले है। प्रशासन को चाहिए कि नदी में अवैध खनन करने वालों पर सख्त कार्रवाई करे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The reason for the downfall of the responsible Kenyan bearers Sea