DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बांदा › बांदा में बर्खास्त सहायक आयुक्त उद्योग भेजे गए जेल
बांदा

बांदा में बर्खास्त सहायक आयुक्त उद्योग भेजे गए जेल

हिन्दुस्तान टीम,बांदाPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 05:01 AM
बांदा में बर्खास्त सहायक आयुक्त उद्योग भेजे गए जेल

बांदा। वरिष्ठ संवाददाता

बर्खास्त सहायक आयुक्त उद्योग सर्वेश कुमार दीक्षित को कोर्ट में पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। सोमवार को शहर कोतवाली पुलिस ने उन्हें लखनऊ से गिरफ्तार किया था। उनके खिलाफ शहर कोतवाली में दो और गिरवां थाने में एक एफआईआर दर्ज है।

खीरी के धौरहरा भेरईया रामलोक निवासी सर्वेश कुमार दीक्षित की सहायक आयुक्त पद पर तैनाती थी। आरोप है कि उन्होंने उद्योग केंद्र कार्यालय की 50 हजार वर्ग फीट जमीन की आयुक्त रामविलास वाजपेई के फर्जी हस्ताक्षर और उपायुक्त की फर्जी मुहर लगाकर रजिस्ट्री करा ली थी। इस पर शासन ने उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। उपायुक्त जहीरूद्दीन सिद्दीकी ने 17 जून को तहरीर देकर धोखाधड़ी, जालसाजी में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। दूसरी ओर सोशल मीडिया पर धमकी भरा और आपत्तिजनक पोस्ट वायरल करने पर बर्खास्त आयुक्त पर शहर कोतवाली और गिरवां थाने में मामला दर्ज है।

शहर कोतवाली पुलिस सोमवार को लखनऊ से गिरफ्तार कर उन्हें बांदा लाई। हालांकि शहर कोतवाल योगेंद्र कुमार ने गिरफ्तारी रोडवेज बस अड्डे के पास से होने की बात कही। मंगलवार को जिला अस्पताल में मेडिकल के बाद पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से मंडल कारागार भेजा दिया गया।

2018 के मामले में लग चुकी है चार्टशीट: सर्वेश के खिलाफ 2018 में तत्कालीन उपायुक्त इंद्रदेव शुक्ला ने भी रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसमें चार्टशीट लग चुकी है। भ्रष्टाचार के आरोप पर सीतापुर ट्रांसफर किया गया था पर सर्वेश ने चार्ज हस्तांतरित नहीं किया था, जिससे जांच प्रभावित हो रही थी। सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी ने भी बर्खास्त आयुक्त की कई शिकायतें की थीं।

संबंधित खबरें