DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत बंद का रहा मिलाजुला असर

भारत बंद का रहा मिलाजुला असर

डीजल, पेट्रोल व रसोई गैस के दामों में वृद्धि के विरोध में सोमवार को कांग्रेस के द्वारा भारत बंद का आहवान किया गया था। इसी कड़ी में कांग्रेस और सपा कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर जुलूस निकाला, और घूम घूम कर दुकानें बंद करवाईं। इसके साथ ही जगह जगह धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया। साथ ही सपाईयों ने मंहगाई की जहां प्रतीकात्मक अर्थी निकाली, वहीं सांसद आवास के पास पीएम मोदी का प्रतीकात्मक पुतला दहन कर विरोध जताया। हलांकि सुरक्षा को लेकर प्रशासन चौकन्ना रहा। रेलवे स्टेशन और बस स्टैण्ड, तथा सदर तहसील के पास पुलिस बल तैनात रहा। इस बंदी का मिला जुला असर रहा। यही हाल ग्रामीण अंचलों में रहा, भारत बंद को लेकर प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

कांग्रेसियों ने निकाला जुलूस किया प्रदर्शन

बांदा। भारत बंद के आहवान पर कांग्रेस और सपा ने सड़क पर उतर कर विरोध जताया। सोमवार को पूर्व निर्धारित भारत बंद के तहत लामबंद होकर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन को लेकर सुबह से ही प्रशासन चौकन्ना रहा। काग्रेंसियों ने जिलाध्यक्ष अखिलेश शुक्ला की अगुवाई में सुबह 8 बजे से ही जिला कार्यालय से जुलूस निकाला। इस दौरान शहर में घूम घूम कर दुकानदारों से बंदी का समर्थन करने की अपील की। इन कांग्रेसियों ने बाइक जुलूस भी निकाला, जो शहर के विभिन्न मार्गों से गुजरा। कांग्रेसियों के साथ लोकतांत्रिक जनता दल के रामसुफल यादव, हरिमोहन गुप्ता, राष्ट्रीय लोकदल के लखन सिंह और वीरेन्द्र साक्षी भी साथ रहे। जिला महिला कांग्रेस ने भी जिलाध्यक्ष सीमा खान के नेतृत्व में प्रदर्शन कर विरोध जताया। कई अलग अलग स्थानों पर धरना प्रदर्शन कर नारेबाजी की। महिला कांग्रेस का जुलूस कैंप कार्यालय अलीगंज से निकाला गया। जिसमें तमाम महिलाएं शामिल रहीं। प्रदर्शन में शहर अध्यक्ष राहबहादुर गुप्ता, मोहम्मद उमर दुर्रानी, राजकुमार गर्ग, संतोष द्विवेदी, राममिलन पटेल, राजनारायण सिंह, अब्दुल मजीद, डा. संजय द्विवेदी, इन्द्रेश जड़िया, अशोक चौहान, भगवानदीन गर्ग, बी लाल, अशरफ उल्ला पप्पू रंपा, संजय ठाकुर, विनय सिंह शानू, जहांगीर खान, रामेश्वर प्रसाद, शिरोमणि भाई, राजेश दीक्षित, संजय गुप्ता, केशव पाल आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Mixed effect of india bandh