DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेयजल समस्या को लेकर प्रशासन की ड्योढ़ी पर दस्तक

पेयजल समस्या को लेकर प्रशासन की ड्योढ़ी पर दस्तक

पेयजल समस्या को लेकर सामाजिक संगठन और राजनैतिक दल भी मुखर होने लगे हैं। मंगलवार को कई संगठनों ने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर शीघ्र समस्या समाधान की मांग उठाई। शहरवासी दूषित जल लेकर अधिकारियों की ड्योढी पर दस्तक दी। कहा कि दूषित जल की आपूर्ति से वह बीमारियों का शिकार हो रहे हैं।

शहर में पेयजल समस्या से चरम पर पहुंच चुकी है। पूरे 31 वार्ड पानी संकट से जूझ रहे हैं। शहर ही नहीं गांव भी पेयजल की किल्लत से कराह रहे हैं। एक माह से पानी के लिए मची हायतौबा के बाद अब सामाजिक और राजनैतिक दल भी इस समस्या के प्रति संजीदा हैं। बुंदेलखंड इंसाफ सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ए एस नोमानी के नेतृत्व में संगठन कार्यकर्ताओं ने दुरेडी खदान पहुंचकर प्रदर्शन किया। कहा कि 90 प्लस मतदान की तरह प्रशासन अभियान चलाकर पेयजल समस्या का शीघ्र समाधान करे। राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंप कर कहा कि बुंदेलखंड मंदाकिनी, बागै, केन, बेतवा, धसान, चंबल और यमुना जैसी बड़ी नदियों के बावजूद यहां का जनमानस प्यास से तड़प रहा है। नदियों के अवैध खनन से जलधारा प्रभावित हो गई। अवैध खनन पर शीघ्रता से रोक लगाई जाए। इंसाफ सेना के पदाधिकारियों ने 23 मई तक समस्या का समाधान न होने पर सड़कों पर उतरकर आंदोलन की चेतावनी दी है। कार्यकर्ताओं ने गरीब ग्रामीणों को मटके बांटे। इस दौरान महेश कुमार, धर्मेन्द्र, श्यामबाबू, धीरेंद्र, राजेश, दिवाकर, अमित व ओमप्रकाश आदि मौजूद रहे।

प्रसपा ने सौपा ज्ञापन

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के युवा जिला संयोजक के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर पांच सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी हीरालाल को सौंपा। ज्ञापन के जरिए कहा कि जिले की पेयजल समस्या का अविलंब निराकरण कराया जाए। बिगड़े हैंडपंप व सरकारी ट्यूबवेल सहित शहर के जीर्णशीर्ण पड़े कुओं की सफाई कराकर पेयजल आपूर्ति कराई जाए। रमजान माह में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करते हुए पेयजल आपूर्ति नियमित कराई जाए। इस मौके पर रमाशंकर राजपूत, बद्रीप्रसाद यादव, महेंद्र कुशवाहा, मनोज यादव, धनेश सोनी, छोटेलाल आदि मौजूद रहे।

दूषित जल की आपूर्ति की शिकायत

बिजली खेड़ा व इंदिरा नगर के मोहल्लेवासियों ने कलेक्ट्रेट में दूषित जल लेकर प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी को बताया कि अरसे से मोहल्ले में गंदे जल की आपूर्ति की जा रही है। इसकी वजह से लोग बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। मोहल्ले वासियों ने डीएम से पाइप लाइन दुरुस्त कराने की मांग उठाई। प्रदर्शन में मिथलेश कुमार मिश्रा, अमित सिंह सहित तमाम लोग शामिल रहे।

डीएम ने लिया कुओं का जायजा

जिलाधिकारी हीरा लाल ने शहर का भ्रमण कर कुओं की स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने मानिक कुइयां, भूपत बाबू की कोठी कटरा, सिंहवाहिनी मंदिर के पीछे स्थित कुओं की स्थिति देखी। कंधरदास तालाब का निरीक्षण कर सफाई कराने के निर्देश दिए। उन्होंने शहर में स्थित 175 कुओं में से 75 की सफाई के लिए नगर पालिका व शेष सौ कुंओं की सफाई के लिए जल संस्थान को निर्देश दिए। जल संस्थान के अधिशाषी अभियंता वीरेंद्र श्रीवास्तव को तत्काल स्टीमेट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Knock on the administration s pitch for drinking water problem